Saturday, Oct 01, 2022
-->
kishanganj-police-have-registered-case-and-arrested-one-of-the-accused-in-gangrape-case

बिहार: पानी पीने के बहाने लड़की से किया गैंगरेप, एक आरोपी गिरफ्तार

  • Updated on 2/8/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बिहार के किशनगंज में पिछले दिनों दरिंदगी की एक ऐसी वारदात  को अंजाम दिया गया जिसे सुन हर कोई दंग रह गया। यहां एक पिता को बंधक बनाकर उसी के सामने उसकी बेटी के साथ 6 वहशी दरिंदों ने बलात्कार किया। इस मामले में पुलिस केस दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। बाकी आरोपियों की पुलिस छानबीन कर रही हैं।

बता दें कि ये घटना सोमवार 4 फरवरी की है। पीड़िता के मजबूर पिता ने पुलिस को बताया कि देर रात पानी पीने के बहाने कुछ लोगों ने उसके घर का दरवाजा खुलवाया था।

RML अस्पताल: महिला डॉक्टर की आत्महत्या मामले में स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिए जांच के आदेश 

 उसके बाद उन्हें बंधक बनाकर गांव के बाहर ले जाया गया और उनकी जमकर पिटाई की। इसके बाद पिता को रस्सी से बांध दिया। दरिंदों ने पिता के ही सामने उसकी बेटी का रेप किया। 

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पीड़ित परिवार हाल ही में उस गांव में आकर रहने लगा था। पीड़िता और उसके परिवार के कहने पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। 

8 साल में दो बार पत्नी को दिया तलाक, पिता और भाई संग हलाला करने पर किया मजबूर

आरोपियों ने पीड़िता के पिता को धमकी दी थी कि अगर पुलिस को बताया तो उन्हें जान से मार दिया जाएगा। पीड़िता के पिता ने बताया कि सभी आरोपी गांव के ही रहने वाले थे।

इनकी पहचान फैज आलम, अब्दुल मन्नान, कालू, कासिम, तकसीर और अंसार के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि इनमें से दो युवक बिजली मिस्त्री का काम करते हैं। इन दोनों ने ही पानी पीने के बहाने पीड़िता के घर का गेट खुलवाया था।

आप कार्यकर्ता पर लगा महिला पार्षद के बेटे पर जानलेवा हमला करने का आरोप, जांच में जुटी पुलिस

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक महिला को मेडिकल परीक्षण के लिए किशनगंज सदर अस्पताल भेजा गया है। आशीष ने बताया कि कोढ़िवाडी थाना के अलावा आसपास के थानों को भी इन छह आरोपियों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया गया है। सभी आरोपी फरार चल रहे हैं।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.