Thursday, Jan 20, 2022
-->
know how a kidnapping case made noida police a millionaire in a few hours

जानिए कैसे एक अपहरण कांड ने नोएडा पुलिस को चंद घंटे में बना दिया लखपति

  • Updated on 9/17/2021

नई दिल्ली, टीम डिजीटल। ग्रेटर नोएडा के बादलपुर में वीरवार सुबह हुए एक अपहरण कांड की कथित घटना ने चौबीस घंटे के अंदर ही नोएडा पुलिस को लखपति बना दिया। पुलिस ने कथित अपहरणकांड में अगवा की गई छात्रा को यूपी के गोंडा जिले के कर्नलगंज थाना क्षेत्र से सकुशल बरामद कर लिया। उसकी बरामदगी के बाद जैसा की अंदेशा था वहीं चौंकाने वाला खुलासा हुआ। छात्रा का अपहरण नहीं हुआ था। वह बुधवार की शाम को अचानक घर से मोबाइल फोन स्विच ऑफ कर अपने प्रेमी से मिलने के लिए उसके घर गोंडा पहुंच गई थी।

सर्विलांस की मदद से पुलिस उस तक जा पहुंची। जहां वह प्रेमी के घर सुरक्षित मिली। जिससे वह शादी की जिद कर रही थी। प्रेमी अपने घर में मौजूद मिला। जो काफी समय से अपने घर गोंडा में ही था। जो कि ग्राफिक्स इंजीनियर है। वह छात्रा के साथ काफी समय से गाजियाबाद में नीट की कोचिंग कर रहा था। जहां से दोनों के बीच प्यार पनपा और ऐसे मुकाम पर ले आया जहां छात्रा अपने परिवार की इज्जत की परवाह किए बगैर घर से चुपचाप निकल कर प्रेमी के घर पहुंच गई। उसकी बरामदगी के बाद अपहरण की घटना की झूठी साबित हुई लेकिन चौबीस घंटे तक सरेआम मार्निंग वॉक पर निकली छात्रा के अपहरण की खबर से नोएडा से लेकर लखनऊ तक में हडक़ंप मचा रहा। विपक्षी कानूनी व्यवस्था की दुहाई दे रहा था।

ऐसे में छात्रा की बरामदगी के बाद शासन ने गौतमबुद्वनगर कमिश्नरेट पुलिस यानि नोएडा पुलिस को एक लाख रुपये का ईनाम देने की घोषणा की है। वहीं वीरवार की सुबह घटना के बाद बादलपुर क्षेत्र में जीटी रोड तीन घंटे तक जाम कर पुलिस पर बरस रहे दादरी विधायक तेजपाल नागर एमएलसी व स्थानीय ग्रामीणों ने अब इस प्रकरण में चुप्पी साध ली है। वहीं बेटी के एक दिन पहले ही चले जाने के बाद पूरी स्क्रिप्ट लिख कर छात्रा के छोटे भाई बहन को अपहरण की झूठी कहानी के डॉयलॉग रटाने वाले भी इस खुलासे के बाद अपनी इज्जत बचाते घूम रहे है। अपर पुलिस आयुक्त कानून एवं व्यवस्था लव कुमार ने बताया कि छात्रा को गोंडा से बरामद किया गया है। जिसमें गोंडा पुलिस का भी सहयोग लिया गया है। अपहरण की घटना झूठी पाई गई है। छात्रा बालिग है। ऐसे में उसके मित्र के खिलाफ फिलहाल कोई एक्शन नहीं लिया जा रहा है। छात्रा को पुलिस ग्रेटर नोएडा लेकर पहुंच रही है। 

क्या था मामला
बादलपुर थाना क्षेत्र के गांव सादोपुर के पूर्व प्रधान की 22साल की पोती स्वाति के अपहरण की सूचना देते हुए परिवार व सैकड़ों ग्रामीणों ने वीरवार को जीटी रोड पर जाम लगा दिया था। परिवार ने बताया था कि वह अपने छोटे भाई बहन के साथ मॉनिंग वॉक पर निकली थी। तभी कार सवार बदमाशों ने उसका अपहरण कर लिया। जब छोटे भाई बहन ने विरोध किया तो उन्हें भी मारा पीटा था। अपहरण के दौरान अगवा छात्रा के कपड़े तक फाड़ दिए थे। जाम प्रदर्शन की सूचना पाकर स्थानीय विधायक तेजपाल नागर व एमएलसी श्रीचंद शर्मा भी पहुंंचे थे। तीन घंटे बाद जल्द गिरफ्तार व छात्रा के सकुशल बरामद कराने के आश्वासन के बाद जाम प्रदर्शन समाप्त हुआ था।   
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.