Wednesday, Jan 26, 2022
-->
know the heroin connection of noida caught from mundra adani port in gujarat

जानिए नोएडा का गुजरात के मुंद्रा अडाणी पोर्ट से पकड़ी गई हेरोइन का कनेक्शन

  • Updated on 9/30/2021

नई दिल्ली,टीम डिजीटल: गुजरात के मुंद्रा अडाणी पोर्ट से पकड़ी गई 3000 किलो हेरोइन के तार दिल्ली से सटे नोएडा से भी जुड़ते दिखाई दे रहे है। राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) लखनऊ व नोएडा यूनिट के ज्वाइंट आपरेशन के बाद दावा किया जा रहा है। इन तारों का मुंद्रा अडाणी पोर्ट से क्या कनेक्शन है यह दो तीन दिन में डीआरआई लखनऊ खुलासा कर सकता है। जिसने मुंद्रा अडाणी पोर्ट में पकड़ी गई हेरोइन की गुत्थी सबसे पहले सुलझाने का दावा किया है।

फिलहाल डीआईआर ने यह दावा नोएडा व शिमला में पकड़े गए ड्रग तस्करों की गिरफ्तारी के बाद किया है। गिरफ्तार लोगों में दो अफगानिस्तानी और एक उज्बेकिस्तान की महिला शामिल है। डीआरआई की ओर से बताया गया है कि आरोपियों के पास से 10.2 किग्रा कोकीन, 11 किग्रा हेरोइन और 38 किलो अन्य मादक पदार्थ बरामद किए गए हैं।

डीआरआई का दावा है कि यह गिरफ्तारियां मुंद्रा पोर्ट से बरामद की गई 19000 करोड़ रुपये की 3000 किग्रा हेरोइन के सिलसिले में की गई हैं। जो कि मेडिकल टूरिज्म की आड़ में अफगान के युवक नोएडा में नशे का कारोबार चला रहे थे। अफगानिस्तान से इलाज के लिए दिल्ली-एनसीआर के अस्पतालों में आने वाले लोगों और स्थानीय डाक्टरों के बीच यह युवक ट्रांसलेटर थे।

इसके बदले में एक से डेढ़ लाख रुपये मिलते थे। शरणार्थी के रूप में रह रहे इन युवकों ने फर्जी तरीके से पहचान पत्र व आधार कार्ड तक बनवा लिए थे। नोएडा व एनसीआर में यह रेव व अश्लील डांस पाटियों का आयोजन भी करते थे। जिसमें यह ड्रग को खपाते थे। 

तीन पहले दो अब हुए गिरफ्तार
डीआरआई सूत्रों के मुताबिक राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) नोएडा की टीम ने तीन आरोपियों को पिछले सप्ताह नोएडा व दो को शिमला के एक गेस्ट हाउस से गिरफ्तार किया था। बुधवार को सभी आरोपियों को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश कर जेल भेज दिया गया है।

आरोपियों के नाम अफगान के मुर्तजा हाकिमी, जमशेद, महमूद खान व समीर खान और उज्बेकिस्तान की सादोकत अख्मीदोवा एलिस हयात हैं। तीनों को पिछले सप्ताह ही नोएडा के सेक्टर-135 स्थित जेपी ग्रींस विश टाउन सोसाइटी से गिरफ्तार किया गया था।

इसी फ्लैट से डीआरआई टीम को करीब आठ किलो मादक पदार्थ मिले थे। इसकी जांच कराई जा रही है कि यह कोकीन है या हेरोइन। सादोकत को उसी दिन जेल भेज दिया गया था, लेकिन मुर्तजा और जमशेद को कोर्ट से पांच दिन के रिमांड पर लिया गया था। पूछताछ में आरोपियों से शिमला में रह रहे महमूद और समीर का इनपुट टीम को मिला था। टीम ने शिमला से इन्हें गिरफ्तार कर लिया था।

सूत्रों की माने तो पूछताछ में सभी ने बताया कि वह नशे के कारोबार के साथ ही अश्लील डांस पार्टी भी आयोजित कराते थे। जांच में पता चला है कि फ्लैट एक प्रापर्टी डीलर के माध्यम से लिया गया। जिसका मालिक  विदेश में रहता है।

गिरफ्तारी के बाद कई जांच एजेंसियां पूछताछ में जुटी
पांचों आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए), इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी), नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) और दिल्ली पुलिस की टीम भी नोएडा पहुंचीं। जांच एजेंसियों ने सभी आरोपियों से अलग-अलग पूछताछ की। फिलहाल, कोई भी एजेंसी इन आरोपियों के बारे में कुछ भी बताने से बचती दिखाई दे रही है। एजेंसियां दावा कर रही है कि इस मामले में अभी और भी गिरफ्तारियां और बरामदगी होगी।

comments

.
.
.
.
.