Tuesday, Sep 25, 2018

OMG! इस कारण लड़का बना सीरियल 'ट्विटर किलर', 9 इंसानी सिर और 240 हड्डियां बरामद

  • Updated on 9/14/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। इंटरनेट और सोशल मीडिया ने भले ही हमें सभी को एक साथ ला दिया हो लेकिन इसमें एक खामी भी है। वो ये की सीरियल किलरों यानि की लोगों की हत्या करने वालों को सीधे तौर पर आम और कमजोर लोगों की जानकारी आसानी से मिल रही है। कई सालों में ऐसे कई किस्से सामने आए हैं कि सीरियल किलरों ने मारने के लिए अपने टारगेट खोजने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया है। इनमें से कई साइबर किलर इस आत्मविश्वास में काम करते हैं कि कोई भी उन्हें नहीं ढूंढ सकता। लेकिन ऐसा नहीं होता। हाल ही में जापान के एक ट्विटर सीरियल किलर की कहानी ने लोगों को हैरान कर दिया है। जानें कई भयानक और डरावनी हत्याओं के पीछे कौन था?

'पति को कैसे मारें' किताब लिखने वाली हुई पति की हत्या में गिरफ्तार

कौन है ट्विटर किलर?
ताकाहिरो शिरायशी नाम का एक शख्स इन सभी सोची-समझी हत्याओं के पीछे था। विदेशी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बचपन से ताकाहिरो एक शर्मीला बच्चा था। वो जब स्कूल में था तो उसके माता-पिता का तलाक हो गया। वो अपनी मां और बहन के साथ रहने लगा। स्कूल के दिनों में ही ताकाहिरो को सुपरमार्किट में काम करना पड़ा ताकि अपने परिवार की आर्थिक मदद कर सके। 

कैसे बना ट्विटर किलर?
स्कूल के कई सालों बाद ताकाहिरो ने दो ट्विटर अकाउंट बनाए। एक का नाम रखा 'आई वॉन्ट टू डाई' (मैं मरना चाहता हूं) और दूसरे का नाम रखा 'ए प्रोफेशनल एट हैंगिंग' (लटकने में पेशेवर)। उसने अपने बारे में लिखा कि वो प्यार में दुर्भाग्यशाली था और अब एक साथ की तलाश में है। उसने उन लोगों की मदद का वादा किया जो आत्महत्या के विचार से जुझ रहे हैं। 

Navodayatimes

कैसे करता था हत्या?
कहा जा रहा है कि वो लोगों को अपना शिकार बनाने के लिए ट्विटर पर उन लोगों को फंसाता था जिनमें आत्महत्या करने की इच्छा उत्पन्न हो रही हो। ताकाहिरो ऐसे लोगों को कहता था कि वो उन लोगों की आत्महत्या करने में मदद करेगा। यहां तक की वो ये भी कह देता था कि उनके साथ वो भी अपनी जान दे देगा।

पिछले साल पुलिस को उसके घर में नौ अधूरे शरीर और लगभग 240 हड्डियां, कूलर्स और टूल बॉक्स में मिली जिन्हें बिल्ली की गंदगी से ढका गया था जैसे कोई सबूत छिपाए जा रहे हों। 

देहरादून के हरिओम आश्रम से 18 बालक-बालिकाएं गायब

उसपर उन लोगों को मारने और काटने का आरोप है जिन्हें उसने सोशल मीडिया पर फंसाया और फिर उनके शरीर के हिस्से कूल बॉक्स में बंद करके रख दिए। कहा जा रहा है कि सबूत छिपाने के लिए बिल्ली की गंदगी से ढकी गई मांस और हड्डियां आठ महिलाओं और एक पुरुष की हैं। 

उसकी पांच महीने तक मानसिक रोग के लिए पूरी तरह से जांच की गई। इसके बाद साफ कर दिया गया कि उसे जुर्म के लिए करार किया जा सकता है। इन सभी जांच के बाद ही उसके खिलाफ अब केस दर्ज किए गए हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.