Monday, May 16, 2022
-->
love jihad in j&k! sikh girls abducted and changed religion musrnt

J&K में लव जिहाद! सिख युवतियों का बदला धर्म, गृहमंत्री ने दिया कार्रवाई का भरोसा

  • Updated on 6/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने जम्मू-कश्मीर में 2 सिख लड़कियों को अगवा करने के बाद जबरन धर्म परिवर्तन कर मुसलमानों से विवाह कराने के मामले में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से मुलाकात की। साथ ही एक पत्र सौंपा। ऐसी ही घटनाएं पाकिस्तान में हो रही हैं।

इस मामले में सिख समुदाय को होम मिनिस्टर अमित शाह की ओर से भी कार्रवाई का भरोसा दिलाया गया है। मनजिंदर सिरसा ने कहा, 'गृह मंत्री अमित शाह ने हमें घाटी में सिख लड़कियों की सुरक्षा का भरोसा दिलाया है। ये लड़कियां जल्दी ही परिवारों में वापस लौट आएंगी। इसके अलावा सिख समुदाय के मुद्दों को लेकर बातचीत के लिए उन्होंने समय भी दिया है।' 

सिरसा ने बताया कि यहां की बहुसंख्यक आबादी द्वारा अल्पसंख्यकों से जुल्म किया जा रहा है। कुछ ही दिनों में 2 लड़कियों को अगवा कर उनका 45 से 60 वर्षीय मुस्लिम बुजुर्गों से विवाह कर दिया गया है। सिरसा ने बताया कि 18 वर्षीय लड़कियों में से एक वापस आ गई है जबकि दूसरी नहीं आई है।

लव जिहादः प्रेम में फंसाकर छात्रा को ले भागा ट्यूटर, डाला धर्म बदलने का दबाव

सिरसा ने बताया कि उपराज्यपाल ने उनकी बात ध्यान से सुनी और विश्वास दिलाया कि सिख बच्चियों के साथ किसी भी प्रकार का जुल्म नहीं होने दिया जाएगा। उप राज्यपाल ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को मौके पर बुलाकर अगवा हुई लड़की को माता-पिता के हवाले करने के लिए तुरंत कानूनी कार्रवाई करने की हिदायत दी। 

प्रतिनिधिमंडल ने यह भी मांग रखी कि राज्य में अल्पसंख्यक कमिशन का गठन किया जाए जिसके लिए उन्होंने तुरंत अनुमति दी और बताया कि वह इस संबंध में जल्द से जल्द फाइल तैयार करवा आगे कार्रवाई करेंगे। 

कश्मीर में सिख समुदाय की दो लड़कियों को कथित तौर पर अगवा कर उनका धर्मांतरण करने का मामला सामने आया है। इससे सिख समुदाय में भारी आक्रोश भड़क गया है। इस मामले को लेकर श्रीनगर में सिख समुदाय ने शनिवार देर रात तक कोर्ट के बाहर प्रदर्शन किया। फिर रविवार को भी गुरुद्वारा शहीद बुंगा बरजूला श्रीनगर में विरोध प्रदर्शन किया। सिख समुदाय की अगवा की गई नाबालिग लड़की को शादी के लिए व्यक्ति कोर्ट पहुंचा था, जिसके बाद सिख समुदाय के लोग कोर्ट के बाहर पहुंचे और धरना दिया। समुदाय के लोग लड़की को सौंपने की मांग कर रहे थे। लोगों को कोर्ट के अंदर नहीं जाने दिया गया।

Love Jihad: असद ने आसू बनकर किया छात्रा का शोषण, मस्जिद में हुआ पर्दाफाश

सिख समुदाय के लोग आरोप लगा रहे थे कि लड़की को अगवा किया है और अब कोर्ट में शादी की जा रही है। सिख संगठनों के नेता भी धरने में शामिल हुए। मामले को प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के पास पहुंचाया गया। प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद लड़की को उनके अभिभावकों को सौंपा गया। इससे कुछ दिन पहले भी एक लड़की को अगवा कर जबरन धर्मांतरण किए जाने का मामला सामने आया था। सिख समुदाय ने आज श्रीनगर में गुरुद्वारा शहीद बुंगा के बाहर प्रदर्शन करते हुए समुदाय के साथ इंसाफ करने की मांग की।

योगी सरकार को 'लव जिहाद कानून' पर मिला 250 पूर्व नौकरशाहों का साथ, की प्रशंसा

जबरन धर्मांतरण के मामले पहले भी सामने आ चुके हैं। इन मामलों में सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। प्रशासन, पुलिस में भी कुछ लोग गलत हैं। जिस तरह से उत्तर प्रदेश में अंतर जातीय विवाह को लेकर कानून बना है, उस तरह का कानून जम्मू कश्मीर में भी बनना चाहिए। नेशनल सिख फ्रन्ट के चेयरमैन वीरेंद्र जीत सिंह ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि मामलों में कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

comments

.
.
.
.
.