Saturday, Dec 05, 2020

Live Updates: Unlock 7- Day 5

Last Updated: Fri Dec 04 2020 10:05 PM

corona virus

Total Cases

9,606,810

Recovered

9,056,668

Deaths

139,700

  • INDIA9,606,810
  • MAHARASTRA1,837,358
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA887,667
  • TAMIL NADU784,747
  • KERALA614,674
  • NEW DELHI586,125
  • UTTAR PRADESH551,179
  • WEST BENGAL526,780
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA320,017
  • TELANGANA271,492
  • RAJASTHAN268,063
  • HARYANA237,604
  • CHHATTISGARH237,322
  • BIHAR236,778
  • ASSAM212,776
  • GUJARAT209,780
  • MADHYA PRADESH206,128
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB153,308
  • JAMMU & KASHMIR110,224
  • JHARKHAND109,151
  • UTTARAKHAND75,784
  • GOA45,389
  • HIMACHAL PRADESH41,860
  • PUDUCHERRY36,000
  • TRIPURA32,723
  • MANIPUR23,018
  • MEGHALAYA11,810
  • NAGALAND11,186
  • LADAKH8,415
  • SIKKIM4,990
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,723
  • MIZORAM3,881
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,333
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
mewalal had done a big scam in the university now education minister djsgnt

बिना मंत्री रहे मेवालाल ने विश्वविद्यालय में किया था बड़ा घोटाला, अब बन गए बिहार के शिक्षा मंत्री

  • Updated on 11/17/2020

नई दिल्ली/ धीरज सिंह। सोमवार को नीतीश सरकार (Nitish Government) के शपथग्रहण के बाद आज सभी मंत्रियों के विभागों का बंटवारा हो गया। मंत्रियों में विभाग के बंटवारे को लेकर मेवालाल चौधरी का नाम काफी सुर्खियां बटोर रहा है। तारापुर से विधायक बने मेवालाल चौधरी बिहार कृषि विश्वविद्यालय में वीसी भी रह चुके हैं। नीतीश सरकार के चौथे कार्यकाल में उन्हें शिक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है।

दिल्ली में डरा रहा कोरोना! दुनियाभर में राजधानी की स्थिति सबसे चिंताजनक

धांधली कराने का आरोप
मेवालाल चौधरी (Mewalal Choudhary) भले ही इस जिम्मेदारी को पहली बार संभालने जा रहे हैं लेकिन उनका इस विभाग से पुराना नाता रहा है और नाता भी ऐसा जो हम सभी को चौंका देगा। चौधरी साहब जब बिहार कृषि विश्वविद्यालय में कार्यरत थे तब उनपर आरोप लगा था कि वह असिस्टेंट प्रॉफेसर नियुक्ति में काफी धांधली करवा रहे हैं। मेवालाल साल 2010 से लेकर 2015 के बीच विश्वविद्यालय के वीसी थे।

बिहार के बाद पश्चिम बंगाल पर अब टिकी बीजेपी की नजर, पार्टी में मंथन शुरु

2012 में वीसी रहते किया था बड़ा घोटाला
उनके कार्यकाल के दौरान ही साल 2012 में 161 पदों के लिए भर्तियां निकाली गई थी। इन पदों में असिस्टेंट प्रोफेसर के साथ-साथ अन्य पदों के लिए भी बहाली हो रही थी। इन्हीं नियुक्तियों के लिए इंटरव्यू में धांधली की शिकायतें सामने आयी थीं। मेवावाल पर तब आरोप लगे थे कि उन्होंने रिश्वत लेकर कई योग्य अभ्यर्थियों को फेल करा दिया और अयोग्य उम्मीदवार को पास कराकर वेबसाइट पर अपलोड करवा दिया। यही चौधरी साहब अब बिहार के शिक्षा के रूप में काम करेंगे।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री का अनोखा बयान, बोले- बाहरी लोगों के कारण बढ़ रहा कोरोना

इन धाराओं के तहत दर्ज है मुकदमा
गौरतलब है कि मेवालाल चौधरी पर लगे धांधली के मामले में साल 2017 में कई एफआईआर दर्ज की गई। जिसमें मेवालाल पर आईपीसी की धारा 409, 420, 467, 468, 471, 120बी भी लगी। ये सभी धाराएं लोकसेवा में रहते हुए भरोसे को तोड़ना, धोखाधड़ी, जाली दस्तावेज आदि तैयार करने के मामले से जुड़ा है। इस केस में मेवालाल के खिलाफ गैर जमानती वारंट तक जारी हुआ था। हालांकि फिर वो 2017 में जमानत पर बाहर आ गए थे।

पश्चिम बंगाल में प्रदेश BJP अध्यक्ष घोष के काफिले पर पथराव और दिखाये गए काले झंडे

'ये सब मत पूछिए'
शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी पर लगे इन्हीं आरोपों के चलते साल 2019 में जदयू ने उन्हें निलंबित कर दिया था। फिलहाल उनके ऊपर लगे सारे आरोप भागलपुर के एडीजे-1 की अदालत में पेंडिंग है। वहीं जब मेवालाल से इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ये सब छोड़िए, विकास की बात कीजिए।  उन्होने कहा कि यह सब पूछने का यहां कोई औचित्य नहीं है। 

सिब्बल के कांग्रेस में मंथन वाले बयान पर भड़के CM गहलोत, बोले- कार्यकर्ता का मनोबल मत तोड़िए

सवाल पर बिफरे मेवालाल
मेवालाल ने आगे कहा कि, 'वो सब कुछ नहीं है। यह सब कोई बात नहीं है। जरा विकास के बारे में बातें कीजिए न। किस तरह का विकास हो राज्य में। डेवलपमेंट कैसे हो, चौतरफा डेवलपमेंट के बारे में पूछिए। कितनी अच्छी कनेक्टिविटी हो, कितनी अच्छी एरीगेशन हो, कितनी अच्छा एग्रीकल्चर हो, कितनी अच्छी शिक्षा हो? आज हम लोगों को एक विकसित राज्य बनाने की बात करना है, विकसित राज्य बनाने पर बाते करें, और उसी विकसित राज्य बनाना हमारे आदरणीय मुखिया का मूल उद्देश्य है और उसी की हम लोगों की प्रतिबद्धता है।'

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.