मुन्ना बजरंगी की पत्नी ने लगाए गंभीर आरोप, यूपी पुलिस ने दी सफाई

  • Updated on 7/10/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी (51) का आज वाराणसी के मणिर्किणका घाट पर अंतिम संस्कार आज कर दिया गया है। बजरंगी की कल सुबह बागपत की जेल में एक अन्य गैंगस्टर ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस बीच मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने गंभीर आरोप लगाते हुए भाजपा नेता पर निशाना साधा है। पत्नी का आरोप है कि भाजपा नेता के इशारे पर ही यूपी की एसटीएफ ने उनके पति को निशाना बनाया है।

मुकेश अंबानी के 'जियो इंस्टीट्यूट' पर घिरी मोदी सरकार, विपक्ष ने लिया आड़े हाथ

UP में चाइनीज रिमोट से होती है करोड़ों की बिजली चोरी, मेरठ में मचा हड़कंप

सीमा सिंह ने अपने आरोपों में केंद्रीय रेल राज्यमंत्री और भाजपा नेता मनोज सिन्हा और पूर्व सांसद धनंजय सिंह समेत कई बड़े नेताओं पर उनके पति की हत्या की साजिश रचने के गंभीर आरोप लगए। उधर, उप्र के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा कि बजरंगी को झांसी जेल से बागपत जेल भेजने के दौरान प्रदेश पुलिस की ओर से सुरक्षा व्यवस्था में कोई कोताही नहीं बरती गई। सिंह ने लखनऊ में पत्रकारों से कहा, 'बजंरगी को सुरक्षा मुहैया कराए जाने में पुलिस की ओर से कोई चूक नहीं हुई है।'

मॉब लिंचिंग: कांग्रेस के निशाने पर PM मोदी, मांगा जयंत सिन्हा का इस्तीफा

मेधा पाटकर के खिलाफ मानहानि मामले में कोर्ट ने तय किए आरोप

डीजीपी ने कहा कि झांसी से बागपत तक बजरंगी को ले जाने में करीब 12 घंटे का वक्त लगा था और इस दौरान पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था का घेरा उसके आस-पास था। उसे सुरक्षित बागपत जेल पहुंचा दिया गया था। उन्होंने कहा कि इस केस की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए गए हैं और कोई भी दोषी नहीं बचेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए न्यायिक जांच के आदेश दिए थे। 

AAP नेता संजय सिंह बोले- अपने कुकर्म छुपाने को धर्म का सहारा लेती है BJP

उन्होंने प्रदेश के सभी जिलों के जिलाधिकारियों व पुलिस अधिकारियों को जेलों का निरीक्षण करने और सुरक्षा कड़ी करने के आदेश दिए थे। माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी उर्फ प्रेम प्रकाश सिंह को भाजपा विधायक लोकेश दीक्षित से पिछले वर्ष रंगदारी मांगे जाने के मामले में कल स्थानीय कोर्ट में पेशी के लिए झांसी कारागार से बागपत जेल लाया गया था।  

ताजमहल की मस्जिद में जारी रहेगा नमाज पढ़ने पर प्रतिबंध, SC में याचिका खारिज

रतन टाटा NCLT के फैसले से खुश, साइरस मिस्त्री देंगे चुनौती

बजरंगी पर हत्या, अपहरण, लूट समेत अनेक जघन्य अपराधों के करीब 40 केस दर्ज थे। वह तत्कालीन भाजपा विधायक कृष्णानन्द राय की हत्या के मामले में भी आरोपी था। मुन्ना बजरंगी का आज ह वाराणसी में अंतिम संस्कार कर दिया गया। बजरंगी के बेटे समीर सिंह ने उसे मुखाग्नि दी। माफिया डॉन के अंतिम संस्कार में घाट पर भीड़ को देखते हुए भारी सुरक्षा बल तैनात किया गया था। इससे पहले बजरंगी का शव उसके पैतृक घर जौनपुर पहुंचा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.