Monday, Dec 06, 2021
-->
narendra giri case cbi seek permission for polygraph test anand giri adya sandeep tiwari rkdsnt

नरेंद्र गिरि मामले में बढ़ सकती हैं आनंद गिरि की मुश्किलें, : CBI ने पॉलीग्राफ टेस्ट की मांगी इजाजत

  • Updated on 10/13/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (CJM) की अदालत से अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे महंत नरेंद्र गिरि (Narendra Giri case) की कथित आत्महत्या मामले में तीन मुख्य आरोपियों आनंद गिरि (Anand Giri), अद्या प्रसाद तिवारी और संदीप तिवारी का‘पॉलीग्राफ टेस्ट’कराने की अनुमति मांगी है। जिला शासकीय अधिवक्ता (फौजदारी) गुलाब चंद्र अग्रहरि ने बताया कि नरेंद्र गिरि की मृत्यु के मामले की जांच कर रही सीबीआई ने तीन मुख्य आरोपियों की पॉलीग्राफ टेस्ट कराने की अनुमति संबंधी अर्जी 11 अक्टूबर को सीजेएम की अदालत में दाखिल की। 

कोयला संकट को लेकर अमित शाह के बाद PMO ने की मौजूदा हालात की समीक्षा

उन्होंने बताया कि इन आरोपियों के वकीलों ने अदालत से 18 अक्टूबर तक का समय मांगा है। इस मामले में अगली सुनवाई 18 अक्टूबर को होगी। ये तीनों आरोपी वर्तमान में न्यायिक हिरासत में हैं और नैनी जेल में निरुद्ध हैं। अग्रहरि ने बताया कि सीबीआई ने अदालत में दाखिल याचिका में बताया है कि इन आरोपियों ने पुलिस हिरासत में सही तथ्यों की जानकारी नहीं दी और नरेंद्र गिरि की आत्महत्या से संबंधित कई चीजें छिपाईं हैं। 

भारत के खिलाफ मानवाधिकार उल्लंघन के झूठे आरोप लगाना आम हुआ : NHRC चीफ जस्टिस मिश्रा

अर्जी के मुताबिक, 'नरेंद्र गिरि की मृत्यु के पीछे की सच्चाई उजागर करने के लिए इन तीन आरोपियों से वैज्ञानिक पद्धति से पूछताछ आवश्यक है जिससे इनके बयानों की सत्यता निर्धारित हो सके।’’ अर्जी में कहा गया है कि अदालत से आरोपियों की पॉलीग्राफ टेस्ट की अनुमति मिलने के बाद नयी दिल्ली स्थित केन्द्रीय फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला के विशेषज्ञों से नैनी जेल आकर ही यह जांच करने का अनुरोध किया जाएगा। 

आजादी के बाद से सावरकर को बदनाम करने की मुहिम से परेशान RSS चीफ मोहन भागवत

उल्लेखनीय है कि नरेंद्र गिरि ने 20 सितंबर को श्रीमठ बाघंबरी गद्दी में अपने कमरे में कथित तौर पर पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। गिरि ने इन तीनों आरोपियों के कथित तौर पर उकसाने पर यह कदम उठाया था।

राकेश अस्थाना को हाई कोर्ट से मिली बड़ी राहत, बने रहेंगे दिल्ली पुलिस आयुक्त

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.