Saturday, Apr 17, 2021
-->
national commission for women concern over attack on woman forest officer in telangana

महिला वन अधिकारी पर लाठी-डंडों से हमला, महिला आयोग ने जताई चिंता

  • Updated on 7/1/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रीय महिला आयोग ने तेलंगाना में एक महिला वन अधिकारी पर हुये हमले पर चिंता प्रकट करते हुये राज्य के पुलिस महानिदेशक को इस बारे में एक रिपोर्ट भेजने का अनुरोध किया है। विदित हो कि कोमाराम भीम आसिफाबाद जिले में रविवार को इस महिला वन अधिकारी पर हमला करके उसे कुछ लोगों ने डंडों से बुरी तरह से पीटा था। ये हमलावर सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीएमसी) से कथित रूप से जुड़े हुये थे। 

#BJP महासचिव कैलाश बल्ला कांड में अपने बेटे आकाश के बचाव में उतरे

अमित शाह, विधायक लीना जैन को दी बम से उड़ाने की धमकी

आयोग प्रमुख रेखा शर्मा ने कहा कि वह अधिकारियों और महिलाओं, विशेषकर कर्तव्य निर्वहन कर रहे लोगों को घृणित अपराध का निशाना बनाने को लेकर गहरे रूप से चिंतित है। शर्मा ने तेलंगाना के डीजीपी एम महेंद्र रेड्डी को सोमवार को लिखे पत्र में अनुरोध किया कि मामले की त्वरित जांच की जाए और आयोग को इस संबंध में उठाये गए कदमों की जानकारी शीघ्र मुहैया कराई जाए।

पश्चिम बंगाल : पोंजी घोटाला मामले में 22 स्थानों पर #CBI की छापेमारी

आयोग ने उन मीडिया रिपोर्ट पर भी संज्ञान लिया है जिसमें कहा गया है कि बिहार में एक पार्षद के बलात्कार करने की कोशिश का विरोध करने वाली दो महिलाओं को पीटा गया। इन खबरों में कहा गया है कि वैशाली के बिहारी गांव में एक 48 साल की महिला और उसकी 19 साल की नवविवाहिता पुत्री को कथित तौर पर ‘‘दंडित’’ किया गया क्योंकि उन्होंने एक स्थानीय पार्षद के बलात्कार के प्रयास का विरोध किया था। आयोग ने एक बयान में कहा किा उसने एक समिति गठित की है जो वैशाली पहुंच कर मामले की जांच करेगी।

‘जानवरों को भी इस तरह से नहीं पीटते हैं’ 
तेलंगाना वन विभाग की अधिकारी सी अनिता ने कहा, ‘‘ इस तरह से तो जानवरों को भी नहीं पीटा जाता है।’’ उन पर, सत्तारूढ़ टीआरएस विधायक के भाई की कथित रूप से अगुवाई वाली भीड़ ने केबी-आसिफाबाद जिले में भूमि मुद्दे को लेकर हमला कर दिया था। चौतीस साल की वन रेंज अधिकारी (एफआरओ) का इलाज यहां एक निजी सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल में चल रहा है। अनिता ने कहा कि विधायक के कोनप्पा के भाई कृष्ण की अगुवाई वाली भीड़ ने मिन्नतें करने के बाद भी उन्हें और अन्य वन र्किमयों को नहीं बख्शा।

विजय माल्या प्रत्यर्पण के आदेश को ब्रिटेन की हाई कोर्ट में देगा चुनौती

 अनिता ने अस्पताल में पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने सरकार से अपनी सुरक्षा और ऐसी घटनाएं रोकने के लिए कड़ी कार्रवाई का पुन: आश्वासन मांगा है। उन्होंने कहा, ‘‘ कृष्ण (स्थल पर) आया और पुलिस को धक्का दिया और (हमें) पीटना शुरू कर दिया। उन्होंने पहले मुझे निशाना बनाया। मुझे पीटने के बाद ग्रामीणों ने हमारे अधिकारियों को पीटना शुरू कर दिया। मैं जख्मी हो गई और हमारे लोग मुझे लेकर गए।’’ अनिता ने कहा ‘‘महिलाओं की परवाह किए बिना उन्होंने हमें पीटा और हम मिन्नतें करते रहे। जानवरों को भी इस तरह से नहीं पीटा जाता है।’’ के. कृष्ण सीरपुर के टीआरएस विधायक के कोनप्पा का छोटा भाई है। 
 

केजरीवाल-सिसोदिया की चुनौती पर तिवारी ने जारी किया वीडियो, दी सफाई

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.