Monday, Oct 22, 2018

नवजोत सिद्धू को लेकर रोडरेज मामले में सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा अहम फैसला

  • Updated on 5/15/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। साल 1988 के रोडरेज के एक केस में पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट से 3 साल की कैद की सजा हासिल कर चुके कांग्रेस नेता नेता नवजोत सिंह सिद्धू की अपील पर सुप्रीम कोर्ट 15 मई को अपना अहम फैसला सना सकता है। 

राजभर का पलटवार, बोले- कार्रवाई करने से कौन रोक रहा है भाजपा अध्यक्ष को

जज जे चेलामेश्वर और जज संजय किशन कौल की पीठ ने 18 अप्रैल को इस केस में अपना फैसला रिजर्व रखा था। इस केस में सिद्धू ने दावा किया था कि गुरनाम सिंह की मौत के कारण के बारे में सबूत विरोधाभासी है और इसको लेकर मेडिकल राय भी साफ नहीं है। 

शेन वॉर्न ने विराट कोहली को बताया सचिन तेंदुलकर से बड़ा खिलाड़ी

पिछले साल पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा छोड़कर कांग्रेस में आए सिद्धू फिलहाल राज्य के पर्यटन मंत्री हैं। अभियोजन के मुताबिक सिद्धू और रुपिंदर सिंह संधू 27 दिसंबर, 1988 को पटियाला में शेरनवाला गेट चौरोह के पास सड़क के बीच में कथित रुप से खड़ी जिप्सी में थे। 

मोदी मंत्रिमंडल में बदलाव: स्मृति से छिना मंत्रालय, गोयल को जेटली का विभाग

उसी वक्त गुरनाम सिंह और दो अन्य पैसे निकालने के लिए कार से बैंक जा रहे थे। गुरनाम ने सिद्धू और संधू से जिप्सी हटाने को कहा। इस पर दोनों पक्षों में नोकझोंक हो गई। सिद्धू ने सिंह को बुरी तरह पीटा और बाद में अस्पताल में उनकी मौत हो गई। 

सुनंदा पुष्कर मामले में आरोपपत्र को लेकर बिफरे शशि थरूर, साथ में आई कांग्रेस

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.