Tuesday, Jun 28, 2022
-->
nia arrestes two associates of underworld don dawood ibrahim

NIA ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम पर कसा शिकंजा, दो गुर्गे को किया गिरफ्तार

  • Updated on 5/13/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने भगौड़े अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम द्वारा नियंत्रित अपराध सिंडिकेट की अवैध गतिविधियों और वित्तीय लेनदेन को संभालने के आरोप में शहर के पश्चिमी उपनगर से गैंगस्टर छोटा शकील के दो सहयोगियों को गिरफ्तार किया है।

एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि आरोपियों को बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया गया था। उनकी पहचान आरिफ अबुबकर शेख (59) और शब्बीर अबुबकर शेख (51) के रूप में की गई है। अधिकारी ने कहा कि दोनों को दाऊद इब्राहिम के सिंडिकेट के खिलाफ मामलों की जांच कर रहे एनआईए के एक दल ने पश्चिमी उपगर से गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि दोनों आरोपियों के छोटा शकील से निकट संबंध हैं।

सूत्रों ने बताया कि मुंबई और ठाणे में विभिन्न स्थानों पर हाल में की गई छापेमारी में एनआईए ने जांच के लिए कई संदिग्धों का पता लगाया था। आरिफ और शब्बीर भी उन संदिग्धों में शामिल हैं, जिन्हें डी कंपनी (दाऊद इब्राहिम के अपराध सिंडिकेट) के साथ उनके कथित संबंधों के कारण गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि एनआईए दल ने उनसे पूछताछ के दौरान पाया कि आरिफ और शब्बीर ने छोटा शकील के साथ कुछ लेन-देन किया था, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

छोटा शकील पाकिस्तान से एक अंतरराष्ट्रीय आपराधिक सिंडिकेट चलाता है और इंटरपोल ने उसके खिलाफ ‘रेड कॉर्नर' नोटिस जारी किया है। अधिकारी ने बताया कि शकील जबरन वसूली, नशीले पदार्थों की तस्करी और आतंकवादी कृत्यों में शामिल है। उन्होंने बताया कि दोनों आरोपियों को दिन में एनआईए की एक विशेष अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा। 

आपको बता दें कि इससे पहले एनआईए ने 09 मई को दाऊद इब्राहिम के करीब 20 ऐसे ठिकानों पर छापा मारा जहां पर उन्हें अंडरवर्ल्ड डॉन के सहयोगियों के मौजूद होने का शक था। इस दिन जिन इलाकों में छापेमारी हुई थी उन में मुंबई के नागपाड़ा, गोरेगाव, बोरीवली, सांताक्रुज, मुम्ब्रा और भिंडी बजार शामिल है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.