Saturday, May 08, 2021
-->
nia filed a chargesheet against dsp davinder singh hizbul mujahideen terrorist pragnt

निलंबित DSP देवेंद्र सिंह केस में आया नया मोड़, NIA ने दाखिल की चार्जशीट

  • Updated on 7/6/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने देश में कथित आतंकी गतिविधियों के लिए जम्मू-कश्मीर पुलिस के निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह (Davinder Singh) सहित छह लोगों के खिलाफ सोमवार को चार्जशीट दाखिल की है।

राहुल पर BJP अध्यक्ष के हमले को लेकर कांग्रेस ने किया पलटवार, पूछे 6 सवाल

हिजबुल के आतंकियों के खिलाफ भी चार्जशीट दाखिल
अधिकारियों ने बताया कि दविंदर सिंह के अलावा चार्जशीट में प्रतिबंधित आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन (Hizbul Mujahideen) के कमांडर सैयद नवीद मुश्ताक उर्फ नवीद बाबू, संगठन के कथित भूमिगत कार्यकर्ता इरफान शफी मीर और इसके सदस्य रफी अहमद राठेर का भी नाम है। इसके अलावा कारोबारी तनवीर अहमद वानी तथा नवीद बाबू के भाई सैयद इरफान अहमद को भी नामजद किया गया है। इस साल जनवरी में गिरफ्तार किए गए सिंह पर सुरक्षित सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों के जरिये पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारियों के साथ संपर्क स्थापित करने का आरोप है।

निलंबित DSP दविन्दर सिंह को जमानत मिलने पर NIA को देनी पड़ रही सफाई

दिल्ली कोर्ट ने पूर्व DSP दविंदर सिंह को दी जमानत
गौरलतब है कि दिल्ली हाईकोर्ट ने 19 जून को जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu and Kashmir Police) के पूर्व डीएसपी दविंदर सिंह को जमानत दे दी। बता दें डीएसपी दविंदर सिंह पर जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में आतंक विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप था। फिलहाल उनकी जमानत कोर्ट ने इसलिए मंजूर कर ली है क्योंकि दिल्ली पुलिस इसके खिलाफ समय सीमा में चार्ज शीट दाखिल नहीं कर पाई थी।  

दविंदर सिंह के वकील एमएस खान ने कहा कि अदालत ने सिंह और मामले के एक अन्य आरोपी इरफान शफी मीर को जमानत दे दी। दोनों को दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ द्वारा दायर एक मामले में अदालत द्वारा राहत दी गई है। खान ने कहा कि कानून के अनुसार जांच एजेंसी गिरफ्तारी से 90 दिनों के अंदर आरोप पत्र दायर करने में विफल रही। उन्हें एक लाख रुपये के निजी बांड और इतनी ही राशि के दो मुचलकों पर यह राहत दी गई।

NSA अजित डोभाल ने चीनी विदेश मंत्री से की बात और LAC पर पीछे हट गई सेना

जमानत मिलने पर NIA को देनी पड़ी थी सफाई
एनआईए ने कहा था कि आतंकी मामले में गिरफ्तार किए गए जम्मू कश्मीर के पुलिस उपाधीक्षक दविंदर सिंह के खिलाफ उसके पास पर्याप्त सबूत हैं। कुछ समय में उसके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया जाएगा। एक संक्षिप्त बयान में एनआईए के प्रवक्ता ने बताया कि एजेंसी द्वारा दाखिल मामले में सिंह न्यायिक हिरासत में रहेगा।  

एनआईए ने एक बयान में कहा, ‘‘हमारे पास उसके खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं और कुछ समय में उसके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया जाएगा।’’ दिल्ली पुलिस द्वारा दाखिल एक अलग मामले में सिंह को शुक्रवार को जमानत दे दी गयी । दक्षिण कश्मीर में दो आतंकवादियों को साथ ले जाते समय सिंह को 11 जनवरी को पकड़ा गया था। एनआईए ने 18 जनवरी को आतंकी मामले की जांच अपने हाथ में ले ली। 

निलंबित DSP दविन्दर सिंह को जमानत : प्रशांत भूषण ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

बड़ी साजिश का है आरोप
बता दें इस पूरे मामले मे दिल्ली पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है। पुलिस इस गंभीर मामले में भी तय समय में चार्जशीट दाखिल नहीं कर पाई है। जिसके कारण कोर्ट ने दविंदर सिंह को जमानत दे दी है। बता दें दविंदर सिंह पर आतंकियों के साथ मिलकर बड़ी साजिश रचने का आरोप है।

विजेंद्र सिंह ने पूछा- दविन्दर सिंह को जमानत मिल सकती है तो सफूरा को क्यों नहीं?

इसी साल किया गया था गिरफ्तार
गौरतलब है कि इस पूरे मामले में दविंदर सिंह को इसी साल 11 जनवरी को पुलिस की एक टीम ने आतंकियों के साथ कुलगाम स्थित मीर बाजार से गिरफ्तार किया था। इस दिन वो ड्यूटी पर मौजूद नहीं था । अधिकारियों के मुताबिक, सिंह ने 12 जनवरी से लेकर 16 जनवरी तक की छुट्टी लेने की अर्जी दी थी। अधिकारियों ने बताया कि सिंह का नाम एसपी के तौर पर प्रमोशन के लिए क्लियर हो गया था। अगले कुछ महीने में वो एसपी बनने वाला था । 

दिल्ली कोर्ट ने पूर्व डीएसपी दविंदर सिंह को दी जमानत, आतंक से जुड़े मामले में हुई थी गिरफ्तारी

आतंकियों के साथ कार में पकड़ा गया
जिस समय डीएसपी की गिरफ्तारी हुई थी। उस समय पर कुछ आतंकियों के साथ एक आई-10 कार में बैठकर उन्हें सीमा पार करा रहा था। उन्हें पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रंगे हाथ पकड़ा था। इसके लिए उन्होंने सीनियर अधिकारी को धमकाते हुए कहा था कि आप बहुत बड़ी गलती कर रहे हैं। 

जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के साथ पकड़े गए डीएसपी देविंदर सिंह को बहादुरी के लिए मेडल भी दिया गया था। जिसे छीनने के लिए जम्मू-कश्मीर प्रशासन की तरफ से आदेश भी जारी किए गए थे । 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.