Sunday, Dec 04, 2022
-->
nine-pilots-and-32-members-of-cabin-crew-fail-pre-flight-alcohol-test-

नौ पायलट व केबिन क्रू के 32 सदस्य उड़ान पूर्व ‘अल्कोहल टेस्ट’ में रहें असफल

  • Updated on 5/10/2022

एक जनवरी से 30 अप्रैल के बीच हुआ था टेस्ट
- फेल होने पर डीजीसीए की ओर से की गई कार्रवाई  

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।


कोरोना के  लॉकडाउन के बाद फिर से शुरू हुई घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के बाद ‘अल्कोहल टेस्ट’ (शराब के सेवन का पता लगाने के लिए की गई जांच) भारत के उड्डयन नियामक नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। इसी का नतीजा है कि 1 जनवरी से 30 अप्रैल के बीच उड़ान से पहले किये गए ‘अल्कोहल टेस्ट’ में नौ पायलट और केबिन क्रू के 32 सदस्य असफल मिले हैं।
डीजीसीए की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार इन चार महीनों में टेस्ट में असफल रहे दो पायलट और केबिन क्रू के दो सदस्यों को दूसरी बार जांच में असफल रहने के लिए तीन साल की अवधि के लिए निलंबित कर दिया गया है। शेष सात पायलट और केबिन क्रू के 30 सदस्यों को तीन महीने के लिए निलंबित कर दिया गया क्योंकि वे पहली बार बीए (ब्रेथलाईजर) जांच में पॉजिटिव पाये गए थे। डीजीसीए ने पिछले महीने कहा था कि एयरलाइंस को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके पायलट और चालक दल के सदस्यों में से 50 प्रतिशत का ‘अल्कोहल टेस्ट’ हो। कोविड-19 महामारी के प्रकोप से पहले, चालक दल के सभी सदस्यों को उड़ान से पहले शराब सेवन का पता लगाने के लिए इस जांच से गुजरना पड़ता था। हालांकि जब महामारी आयी, तो जांच कुछ महीनों के लिए स्थगित कर दी गई। इसके बाद, जांच फिर से शुरू की गई लेकिन चालक दल के सदस्यों के केवल एक छोटे हिस्से के लिये।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.