Sunday, Nov 28, 2021
-->
nirbhaya gang rape patiala house court convict death penalty supreme court

निर्भया केसः पटियाला हाउस कोर्ट में दोषियों को जल्द फांसी की याचिका पर सुनवाई टली

  • Updated on 12/13/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। निर्भया (Nirbhaya) के दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा स्वीकार कर लिए जाने के बाद अब दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) ने दोषियों को डेथ वारंट जारी करने की मांग करने वाली वाली याचिका पर भी सुनवाई टाल दी है। इस मामले में अगली सुनवाई 18 दिसंबर को होगी। 

पटियाला हाउस कोर्ट का कहना है कि हमें पता चला है कि सुप्रीम कोर्ट ने दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका स्वीकार कर ली है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट 17 दिसंबर को सुनवाई करेगा। इसके बाद ही पटियाला हाउस कोर्ट 18 दिसंबर को डेथ वारंट मामले की सुनवाई को आगे बढ़ाएगा। 

निर्भया मामले में दोषियों को दो चरणों में दी जा सकती है फांसी, जानें पूरी प्रक्रिया

वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए कोर्ट में पेश हुए दोषी
सुरक्षा कारणों के चलते चारों दोषियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए कोर्ट में पेश किया गया। सुनवाई के दौरान निर्भया के वकील ने कहा कि फांसी की तारीख तय होनी चाहिए। दया याचिका से डेथ वारंट का क्या लेना देना है। दया याचिका लगने के बाद डेथ वारंट को नहीं रोका जा सकता। 

Nirbhaya Case: दोषियों को फांसी देने के लिए जल्लाद की खोज पूरी, तिहाड़ में हो सकती है फांसी

18 दिसंबर तक दोषियों को फांसी नहीं
फांसी की तैयारियों की खबरों के साथ ये कयास लगाए जा रहे थे कि निर्भया के दोषियों को 16 दिसंबर को ही फांसी दी जाएगी, जिस दिन दोषियों ने उसके साथ दरिंदगी की थी। हालांकि दोषी अक्षय की याचिका स्वीकार होने के बाद ये बात स्पष्ट हो गई है कि अब निर्भया के दोषियों को फांसी 18 दिसंबर तक नहीं होगी। 

निर्भया मामला: Supreme court दोषी अक्षय की पुर्निवचार याचिका की स्वीकार, 17 को होगी सुनवाई

दोषी के पुर्निवचार याचिका कोर्ट ने की स्वीकार
दरअसल, मामले में दोषी ठहराये गए अक्षय ने अपनी मौत की सजा की पुष्टि किए जाने के शीर्ष न्यायालय के 2017 के फैसले पर पुर्निवचार करने का अनुरोध किया है। तीन न्यायाधीशों की पीठ दोषी अक्षय कुमार सिंह द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करेगी। सिंह के वकील ने पुर्निवचार याचिका में मौत की सजा पर ऐसे वक्त में सवाल उठाया है, जब बढ़ते प्रदूषण के चलते जीवनकाल छोटा हो रहा है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.