Thursday, Apr 09, 2020
nirbhaya justic four convicts hang till death

निर्भया इंसाफ: DDU अस्पताल में पोस्टमॉर्टम के बाद परिजनों को सौंपे गए दोषियों के शव

  • Updated on 3/20/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। 2012 की गैंगरेप पीड़िता निर्भया को 8 साल बाद इंसाफ मिल गया है। 5: 30 बजे पर दिल्ली के तिहाड़ जेल में निर्भया के चारों दोषियोंं को जेल प्रशासन ने फांसी दे दी है। फांसी के बाद चारों दोषियों के शवों को प्रशासन ने पोस्टमार्टम के बाद उनके परिवार को सौंप दिए गए। दोषियों के शवों का पोस्टमार्टम दीन दयाल उपाध्याय (डीडीयू) अस्पताल में किया गया।
निर्भया गैंगरेप: फांसी के लिए तैयार है तिहाड़, जानें फांसी से पहले और फांसी के बाद की पूरी प्रक्रिया

Live update:

  • दीन दयाल हॉस्पिटल में शवों का पोस्टमार्टम शुरू हो गया है
  • सुबह करीब 10 बजे होगा पोस्टमार्टम
  • 5 डॉक्टरों की टीम करेगी पोस्टमार्टम
  • परिवारवालों को दिया जाएगा कपड़ा और सभी सामान : तिहाड़ जेल प्रशासन
  • चारों दोषियों ने कोई इच्छा जाहिर नहीं की: डीजी तिहाड़ जेल 
  • ये सारे देश की जीत हैः स्वाति मालीवाल
  • दोषियों के शवों को दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया
  • मेडिकल अफसर ने चारों दोषियों को मृत घोषित किया
  • चारों दोषियों के शवों को प्रशासन ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है
  • 7 साल बाद निर्भया को मिला इंसाफ, चारों दोषियों को दी गई फांसी
  • 1 मिनट में होने वाली है फांसी
  • जेल में छाया सन्नाटा, थोड़ी देर में होगी फांसी
  • चारों दोषियों के गले में डाला गया फंदा
  • दोषियों के चेहरे पर काला कपड़ा पहनाया गया
  • चारों आरोपियों को फांसी घर में लाया जा रहा है । कुछ ही देर में चारों को फांसी होगी


लॉकडाउन हुई जेल
सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया के दोषी पवन की दया याचिका (Mercy Petition) को खारिज कर दिया है। जिसके बाद  निर्भया की दोषियों की फांसी का आखिरी रोड़ा भी अब हट गया है। सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद अब बिलकुल तय हो गया है कि निर्भया के दोषियों को आज सुबह 5:30 फांसी दे दी जाएगी। फिलहाल जेल प्रशासन ने दोषियों की फांसी की प्रकिया को शुरु कर दिया है। इसी के तहत प्रशासन ने दोषियों की मेडिकल जांच करा ली है ताकि उनकी स्वास्थ्य का अंदाजा लगाया जा सके और उसके कुछ समय बाद ही निर्भया के दोषियों को फांसी होगी
निर्भया मामला : HC ने फांसी पर रोक की मांग करने वाली दोषियों की याचिका हुई खारिज

जेल को किया गया लॉकडाउन
फिलहाल जेल अधिकारियों ने फांसी की प्रकिया को शरु कर दिया है  इसी के तहत जेल का लॉकडाउन किया गया है ताकि दोषियों को समय से फांसी दी जा सके।


हाईकोर्ट ने भी खारिज की थी याचिका
निर्भया गैंगरेप केस में अब यह तय हो गया है कि निर्भया के दोषियों को शुक्रवार सुबह फांसी दी जाएगी। लेकिन इस बीच आखिरी दांव खेलते हुए फिर से दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई थी। जिसे दिल्ली हाईकोर्ट नेे खारिज कर दिया है। उसके बाद दोषियों के वकील एपी सिंह सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुके हैं। कोर्ट ने  उनकी याचिका पर सुनवाई के  लिए रात 2:30 बजे सुनवाई की बात कही है। जिसके बाद आगे क्या होगा इस मामले के यह पता लगेगा।
मध्यप्रदेश: कमलनाथ आज करेंगे प्रेस कांफ्रेंस, दे सकते हैं CM पद से इस्तीफा

एपी सिंह को लगाई फटकार
बता दें दोषियों की याचिका दिल्ली हाईकोर्ट में खारिज होने के बाद दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा है कि वह इस मामले को सुप्रीम कोर्ट में लेकर जाएंगे।  वह कहते है कि हाईकोर्ट ने अभी हमें कोई कागज नहीं दिए है। इसलिए हम सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा नहीं खटखटा पा रहे हैं। जैसे ही हमें कागज मिलते हैं हम उसके बाद सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाएंगे। इसके अलावा कोर्ट ने दोषियों के वकील एपी सिंह को कोर्ट का समय बर्बाद करने के लिए फटकार भी लगाई है।

 

 

 
इस बार मिलेगा इंसाफ ? जानिए कौन हैं कानून से खेलने वाले निर्भया के दरिंदे हत्यारे

शुक्रवार सुबह दोषियों को दी जाएगी फांसी
मालूम हो कि निर्भया के दोषियों को शुक्रवार सुबह 5.30 बजे फांसी दी जाएगी। इससे पहले ही दोषियों के वकील एपी सिंह ने एक याचिका दाखिल की है। जिसमें आज दोपहर पटियाला हाउस कोर्ट के दिये फैसले को चुनौती दी गई है। इससे पहले पटियाला कोर्ट ने फांसी पर रोक लगाने से इनकार कर दिया तो उसके बाद ही तय हो गया कि शुक्रवार को ही फांसी दी जाएगी।

कोई कानूनी विकल्प नहीं बचा
हालांकि इस दौरान अदालत ने 6 याचिकाओं को खारिज कर दिया। वहीं सरकारी वकील ने कहा कि अब चारों दोषियों के पास कोई कानून विकल्प नहीं बचा है। जबकि निर्भया की मां ने दोषियों को शुक्रवार सुबह फांसी देने पर खुशी जताई है। उन्होंने कहा कि उनकी बेटी को 7 साल तक कानून दांव-पेंच से गुजरने के बाद अंततः न्याय मिलेगा।   

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.