Thursday, Apr 09, 2020
nirbhaya rape delhi case profile of culprits accused ram singh committed suicide

निर्भया कांड : ऐसा था दोषियों का प्रोफाइल, आरोपी रामसिंह कर चुका है आत्महत्या

  • Updated on 3/20/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। निर्भया कांड के दोषियों को सजा मिल गई है। इसके साथ ही पीड़िता के परिवार को भी इंसाफ मिल गया है। बता दें कि निर्भया ने 16 दिसंबर 2012 की काली रात के बाद 13 दिन अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच गुजारे। इसके बाद सिंगापुर पहुंचते ही उसकी मौत हो गई। इसके बाद तो उसको इंसाफ दिलाने के लिए लोग सड़कों पर उतर आए। दिल्ली पुलिस सक्रिय हुई और दोषियों को पकड़ा गया। एक नजर निर्भया कांड में पकड़े गए आरोपियों पर: -

- रामसिंह (मुख्य आरोपी)
पता- झुग्गी नंबर जे-49, रविदास कैंप, आरके पुरम सेक्टर-3
काम-बस चालक
तिहाड़ जेल संख्या 3 में 11 मार्च, 2013 को खुदकुशी कर ली

- मुकेश कुमार
पता- रविदास कैंप, आरकेपुरम सेक्टर-3
काम- ड्राइवर कम हेल्पर
राम सिंह का भाई है, दोनों साथ रहते थे, भाई के बस पर हेल्पर था, घटना के समय यही बस को चला रहा था।

- अक्षय कुमार सिंह उर्फ अक्षय ठाकुर
पता- रविदास कैंप, आरकेपुरम सेक्टर-3
मूल निवासी- औरंगाबाद, बिहार
काम- बस हेल्पर

- पवन गुप्ता
पता- रविदास कैंप, आरकेपुरम सेक्टर 3
काम- फल विक्रेता

- विनय शर्मा
पता- रविदास कैंप, आरकेपुरम सेक्टर-3
काम- जिम में हेल्पर

- छठा आरोपी
वह नाबालिग था, जिसे कोर्ट ने बालिग होने के बाद ३१ अगस्त को तीन साल की सजा सुनाई, मौजूदा समय में वह बाहर है और सामान्य जिंदगी जी रहा है। कोर्ट के आदेश पर उसकी पहचान उजागर नहीं की जा सकती।

छठा आरोपित वारदात के नाबालिग (17 साल छह महीने 11 दिन का था) अब बालिग होने के बाद उसे ३१ अगस्त को बाल न्यायालय ने हत्या में अधिकतम तीन साल की सजा सुनाई थी। सजा पूरी होने के बाद 29 दिसम्बर 2015 में उसे रिहा कर दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.