Monday, Jun 27, 2022
-->
notice-to-delhi-police-commissioner-on-finding-deficiencies-in-the-chargesheet

आरोपपत्र में कमियां पाए जाने पर दिल्ली पुलिस आयुक्त को नोटिस

  • Updated on 5/9/2022

आरोपपत्र में कमियां पाए जाने पर दिल्ली पुलिस आयुक्त को नोटिस
अदालत ने खजूरी खास एसीपी और एसएचओ के जवाब पर जताई नाराजगी

 

पूर्वी दिल्ली 9 मई (नवोदय टाइम्स): कडक़डड़ूमा स्थित मुख्य महानगर दंडाधिकारी शिरीष अग्रवाल की अदालत ने दिल्ली दगों के दौराना उत्तर पूर्वी दिल्ली के थाना खजूरी खास इलाके में हुई हिंसा के एक मामले में दायर आरोपपत्र में खामियां पाए जाने पर जांच अधिकारी ने अदालत में गलती स्वीकार कर ली । जिसके बाद अदालत ने खजूरी खास क्षेत्र के एसीपी और एसएचओ के जवाब पर नाराजगी जताते हुए दिल्ली पुलिस आयुक्त को नोटिस जारी किया है।

अदालत ने कहा कि दोनों अधिकारियों ने यह नहीं बताया कि कैसे और किन परिस्थितियों में खामियां देखे बगैर आरोपपत्र को अदालत में भेज दिया गया। अदालत ने दिल्ली पुलिस आयुक्त को निर्देश दिया है कि एसीपी, थानाध्यक्ष और जांच अधिकारी के जवाब का परीक्षण करें और इनकी कमी पाई जाने पर कार्रवाई की जाए।

वहीं, अगर एसीपी के स्तर पर कमी पाई जाती है तो पुलिस आयुक्त यह भी जांच करें कि उत्तर.पूर्वी जिला उपायुक्त ने एसीपी के खिलाफ  कार्रवाई क्यों नहीं की। इस मामले में अगली सुनवाई 23 जून को होगी। अगली सुनवाई पर पुलिसकर्मियों के खिलाफ  कार्रवाई के बाबत अदालत को सूचित करना होगा।

 दिल्ली दंगों से जुड़े मामले में महबूब आलम सहित पांच आरोपी हैं। गत 9 फरवरी को हुई सुनवाई में अदालत ने पाया था कि आरोपपत्र में कई खामियां हैं। साथ में लगाए गए साइट प्लान में घटनास्थल का जिक्र नहीं है। घटना में तीन शिकायतकर्ताओं की तीन संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया था।

साइट प्लान में इन संपत्तियों को भी नहीं दर्शाया गया है। जानकारी के अनुसार अदालत ने पाया था कि खजूरी खास थानाध्यक्ष के अलावा एसीपी खजूरी खास ने आरोपपत्र को अगे भेज कर दिया। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.