Thursday, Feb 09, 2023
-->
notorious-bavaria-gang-thief-caught-jewelery-worth-lakhs-recovered

पकड़े गए कुख्यात बावरिया गिरोह चोर, लाखों की गहने बरामद

  • Updated on 7/23/2022

 इलाके के 16 चोरी के मामलों को पुलिस ने सुलझाया
- सालभर पुराने एक रेप के मामले का भी हुआ खुलासा

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।



द्वारका जिला पुलिस की टीम ने कुख्यात अंतरराज्यीय बावरिया गिरोह के खिलाफ अभियान चलाते हुए गिरोह के दो शातिर चोरों को गिरफ्तार किया है। इन दोनों चोर चरण सिंह उर्फ चरणजीत और रवि उर्फ गोलू के साथ इनसे चोरी के गहने खरीदने वाले एक आभूषण दुकानदार डाबरी के धिरेंद्र वर्मा को गिरफ्तार किया है। इनकी गिरफ्तारी से पुलिस ने इलाके में गत दिनों में हुए 16 चोरी के मामलों को सुलझा लिया है। साथ ही पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी से एक साल पहले नजफगढ़ इलाके में हुए रेप के एक मामले का भी खुलासा कर लिया गया है। इनके पास से पुलिस ने घरों से चुराए हुए गहने और कई कीमती सामान बरामद की है, जिनकी कीमत करीब 12 लाख रुपये आंकी गई है।
डीसीपी एम हर्षवर्धन ने बताया कि इलाके में चोरी की वारदातों पर रोक लगाने और चोरों की गिरफ्तारी के लिए के लिए जिला ऑपरेशन सेल और थाना पुलिस की टीम लगातार अभियान चला रही है। इसमें टेक्निकल सर्विलांस के साथ ही सूचना तंत्रों के माध्यम से नियमित रूप से जानकारी जुटाई जाती है। इसी दौरान पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज से मिले सुराग और मुखबिर से दोनों के बारे में सूचना मिली। सूचना के आधार पर एसीपी राम अवतार और द्वारका नॉर्थ के एसएचओ संजीव कुमार के नेतृत्व में टीम बनाई गई। पुलिस को इनके बारे में  पुलिस को पता चला था कि रवि खैरी बाबा पुल मोहन गार्डन के पास आने वाला है। उस सूचना पर वहां पर ट्रैप लगाया गया और रवि को गिरफ्तार किया गया। उसके बाद उसके साथी चरण सिंह के बारे में भी पुलिस को पता चला, फिर पुलिस टीम ने उसे भी छापा मारकर डाबड़ी इलाके से पकड़ा। गिरफ्तार चरणजीत पर पहले से 33 मामले लूटपाट और सेंधमारी के चल रहे हैं, जबकि रवि 9 मामलों में शामिल रहा है। पूछताछ में उन्होंने बताया कि वह डाबरी के एक आभूषण दुकानदार को चोरी के गहने बेचते थे। फिर पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया। इनकी गिरफ्तारी से 30 हजार नकदी के अलावा एक दर्जन रिंग, काफी मात्रा में सोना और चांदी के गहने, घडिय़ां, मोबाइल आदि बरामद किया है। इनकी गिरफ्तारी से द्वारका नॉर्थ, छावला, विकासपुरी, बिंदापुर, उत्तम नगर आदि थाना इलाकों के 16 मामलों का खुलासा किया गया है। पुलिस को पूछताछ में यह भी पता चला कि सेंधमारी के दौरान चुराए गए ज्वैलरी को यह एक फाइनेंस कंपनी में जमाकर रखा है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.