Thursday, Jan 27, 2022
-->
nri-director-s-act-sold-shares-worth-10-crores-the-businessman-got-hurt

एनआरआई डायरेक्टर का कारनामा, 10 करोड़ के शेयर बेचे, कारोबारी को चपत 

  • Updated on 11/23/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। कारोबारी को झांसा देकर 10 करोड़ रुपए का चूना लगा दिया गया। ऑडिट का बहाना बना फर्जीवाड़ा कर कारोबारी के शेयर दूसरे को बेच दिए गए। शिकायत मिलने पर पुलिस ने निजी कंपनी के एनआरआई डायरेक्टर के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की है। एंटी फ्रॉड सेल की जांच में भी आरोपी के खिलाफ साक्ष्य मिल चुके हैं। जनपद गाजियाबाद में थाना नंदग्राम पुलिस ने इस प्रकरण की विवेचना आरंभ की है। पुलिस के मुताबिक सूरज अपार्टमेंट सूरजपुर नई दिल्ली में यौवन शर्मा सपरिवार रहते हैं। वह पेशे से कंस्ट्रक्शन कारोबारी हैं।

यौवन के पूर्व किराएदार अरविंद महिंद्रा लैंडरश एस्टेट इंडिया प्रा.लि. कंपनी में साझीदार थे। यह कंपनी कनाडा निवासी एनआरआई गुरचरण सिंह लाऊ की है। गुरचरण सिंह राजनगर एक्सटेंशन की रिवर हाईट्स सोसाइटी में भी कुछ समय रहे थे। अरविंद के जरिए यौवन शर्मा की मुलाकात गुरचरण से हुई थी। यौवन को भूमि की खरीद-फरोख्त के सौदे में शामिल होने का ऑफर दिया गया। गुरचरण ने संबंधित भूमि का बैनामा यौवन के पक्ष में करने का आश्वासन दिया। बदले में उन्होंने चेक के जरिए ढाई करोड़ रुपए दे दिए। बाद में भूमि का बैनामा कंपनी के नाम कर दिया गया।

तदुपरांत यौवन शर्मा को संबंधित कंपनी में 25 प्रतिशत का शेयर होल्डर बनाया गया। इस बीच 25 सितंबर 2021 को ऑडिट करने की बात कह उनके शेयर के दस्तावेज ले लिए गए। बाद में यौवन को मालूम पड़ा कि गुरचरण ने फर्जी हस्ताक्षर कर यह शेयर दूसरे को बेच दिए हैं। कंपनी में भागीदारी के कारण 40 करोड़ की भूमि में उन्हें 10 करोड़ रुपए मिलने थे, मगर यह रकम डकार ली गई। उधर, पुलिस क्षेत्राधिकारी (द्वितीय) अवनीश कुमार का कहना है कि इस प्रकरण की विवेचना एंटी फ्रॉड सेल को दी गई थी। सेल की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने निजी कंपनी के एनआरआई डायरेक्टर गुरचरण सिंह के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.