Saturday, Jan 22, 2022
-->
on seeing the police team, bullets were rained on them

पुलिस टीम को देखते ही उनपर बरसाई गोलियां

  • Updated on 9/30/2021

पुलिस टीम को देखते ही उनपर बरसाई गोलियां, जवाबी फायरिंग कर पुलिस ने चार को दबोचा

- चारो नंदू गैंग के सदस्य, 27 सितंबर को बाबा हरिदास नगर में सरेआम विरोधी गैंग के सदस्य की गोली मारकर की थी हत्या
- वैसी एक अन्य वारदात को अंजाम देने की थी तैयारी, पहले ही पुलिस ने दबोचा
- चार में दो नाबालिग, वारदात में उपयोग तीन शॉफिस्टिकेटेड व एक देसी पिस्टल बरामद

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।

द्वारका जिला के बाबा हरिदास नगर इलाके में सरेआम एक युवक की उसी की कार में गोलियां मार कर हत्या को अंजाम देने वाले चारो शूटर को पुलिस ने दबोच लिया है। इन चारों को जिला स्पेशल स्टाफ की टीम ने एक एनकाउंटर के बाद पकड़ा है। चारो ही कुख्यात नंदू गिरोह के सदस्य हैं। इन चारो ने उन्हें पकडऩे पहुंची टीम को देखते ही उन पर गोलियां चला फरार होने की कोशिश की थी, जिसमें से एक गोली टीम के एक सदस्य को लगी, पर पहने हुए बुलेट प्रुफ जैकेट ने उनकी जान बचा ली। इसके बाद जबाबी फायरिंग करते हुए चारो को घेर दबोच लिया। इनमें से दो नाबालिग हैं। गिरफ्तार बदमाशों की पहचान सोनीपत निवासी 18 वर्षीय सौरभ और दिल्ली निवासी 24 वर्षीय विनय उर्फ लालू के रूप में हुई है। इनके कब्जे से पुलिस ने तीन शॉफिस्टिकेटेड व एक देसी पिस्टल और 9 गोलियां बरामद की है।

जिला के एडिशनल डीसीपी विक्रम सिंह ने बताया कि 27 सितंबर को बाबा हरिदास नगर के खैरा रोड पर टिंकु उर्फ शिवांश नामक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जांच में पता चला कि मृतक भी आपराधिक प्रवृति का था। उसपर चोरी व लूट के तीन मामले दर्ज थे। मामले को गंभीरता से लेते हुए हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए स्थानीय थाना पुलिस की टीम के साथ ही जिला के एसीपी ऑपरेशन विजय सिंह के निरीक्षण में कई टीमें अपने स्तर से हत्यारों की तलाश में लगाई गई थी। इसमें इंस्पेक्टर नवीन कुमार के नेतृत्व में जिला स्पेशल स्टाफ के एसआई नानग राम, रंजीव त्यागी, अरविंद, महेंद्र एएसआई उमेश की टीम उनके सुराग जुटाने के लिए टेक्निकल व मैनुअल सर्विलांस का सहारा ले रही थी। इसके लिए टीम ने घटना स्थल के आस पास से करीब 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरों से फुटेज खंगाले। इसमें से कुछ में हमलावर नजर आए। इसके आधार पर उनकी पहचान और तलाश शुरू की गई। इसी दौरान वीरवार तडक़े टीम को सूचना मिली कि इस वारदात में शामिल लोग एक अन्य वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। सूचना के आधार पर टीम ने तत्काल झरोदा गांव के गंदा नाला के पास टीम पहुंच गई। टीम को देखते ही चारो पुलिस पर गोलियां चलाते हुए भागने लगे। इसमें से एक गोली एएसआई उमेश कुमार के बुलेट प्रूफ जैकेट पर गोली लगी। जवाबी कार्रवाई पुलिस टीम ने भी कई गोली चलाई।
इसके बाद चारो मौके से भागने लगे, पर टीम के कुछ सदस्य पहले ही उनके भागने के रास्ते को घेर दबोच लिया। जब पूछताछ हुई तो पता चला कि इनमें से दो नाबालिक हैं। जिनकी उम्र 16 और 17 साल है, जबकि गिरफ्तार किए गए बदमाशों में सौरभ और विनय उर्फ लालू शामिल है। यह दोनों सोनीपत और खरीखरी नाहर दिल्ली के रहने वाले हैं। इनकी गिरफ्तारी से बाबा हरिदास नगर इलाके में हुई सनसनीखेज हत्या के मामले को सुलझा लिया गया है। आगे की पूछताछ पुलिस टीम कर रही है।

टीम को मिलेगा दो लाख का इनाम
इधर दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने सूचना के बाद चारो को गिरफ्तार करने वाले पुलिस कर्मियों को प्रशस्ती पत्र देने के साथ ही दो लाख रुपये के इनाम की भी घोषणा की है। पुलिस आयुक्त ने व्यक्तिगत रूप से वीरवार को झरोदा कलान पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में ऑपरेशन में शामिल पुलिस कर्मियों को बधाई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.