Monday, May 23, 2022
-->
one lakh 54 thousand cheated from the youth on the pretext of making a play boy

प्ले ब्यॉय बनाने बनाने का झांसा देकर युवक से 1 लाख 54 हजार  की ठगी

  • Updated on 1/25/2022

नई दिल्ली, टीम डिजीटल/ अगर आप के मोबाइल के टेलीग्राम, व्हाट्एप या फिर फेसबुक पर मौज मस्ती के साथ साथ ढेर सारे रुपये कमाने भरे ऑफर आ रहेे है तो जरा सावधान हो जाए। नोएडा के थाना सेक्टर 49 क्षेत्र के बरौला गांव में रहने वाले एक युवक से पुरुष वैश्या (जिगोलो) बनाने के नाम पर साइबर ठगों ने 1 लाख 54 हजार 430 रूपए ठग लिए। ठगी का शिकार युवक ने घटना की रिपोर्ट थाना सेक्टर-49 में दर्ज कराई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
 थाना सेक्टर 49 के थानाध्यक्ष अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि बरौला गांव के कल्याण कुंज कॉलोनी में रहने वाले पवन कुमार पटेल ने थाना सेक्टर 49 में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि सोशल मीडिया के माध्यम से युवकों ने उनसे संपर्क किया। उन्होंने उसे प्लेबॉय बनाने का ऑफर दिया। पवन का आरोप है कि इसके लिए उन युवकों ने अपने खाते में उनसे 1,54,430 रूपए डलवा लिया। इसके बाद उन युवकों नेे उन्हें लालच दिया था कि इस धंधे में उन्हें मोटी कमाई होगी और इससे साथ साथ उसकी मौज मस्ती भी होगी। रुपये जमा होने के बाद उन युवकों ने पवन से जब सम्पर्क नहीं किया तो पवन ने उनके दिए गए नंबरों से सम्पर्क किया लेकिन वह बंद मिले। जिसके बाद ठगी का अहसास होने पर पवन ने घटना की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज कराई। रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है।
मालूम हो कि नोएडा एनसीआर में इस तरह का यह पहला मामला है। जब पुरुष वेश्या बनाने के नाम पर साइबर ठगों ने किसी को अपने जाल में फंसाया है। दिल्ली-एनसीआर में प्ले ब्यॉय या कहे जिगोलो बना कर सेक्स रैकेट का ध्ंाधा कई सालों से चल रहा है। जो कि सिक्योरिटी एजेंसी, जिम तथा बॉडीबिल्डिंग चलाने की आड़ में यह धंधा काफी फल फूल रहा है। बॉडी बिल्डर व लंबे चौड़े दिखाई देने वाले युवकों की डिमांड सबसे ज्यादा है। जो इन सैक्स रैकेट संचालकों के निशान पर रहते है। जिन्हें मोटी कमाई और मौज मस्ती का लालच देकर अपने जाल में फंसा लेते है। 
 

सोशल मीडिया पर भी विज्ञापन के जरिए फंस रहे है नौजवान
सूत्र बताते हैं कि आजकल सोशल मीडिया पर इस तरह का जोर शोर से विज्ञापन चल रहा है। विज्ञापन आता है कि खूबसूरत व वलिष्ठ नौजवान घर बैठे हर माह लाखों रुपया कमा सकते हैं। बेरोजगार युवक इनके जाल में फंस जाते हैं। बाद में इनके द्वारा रजिस्ट्रेशन आदि के नाम पर युवकों से पैसा लिया जाता है। इनकी तरफ  से कुछ महिलाएं युवकों को फोन करती हैं तथा उनके निजी अंगों की तस्वीर हासिल कर उन्हें बाद में ब्लैकमेल भी करती हैं। 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.