Thursday, Sep 28, 2023
-->
police stopped the national president of bhakiyu bhanu who was going to support the farmers

किसानों को समर्थन देने जा रहे भाकियू भानू के राष्ट्रीय अध्यक्ष को पुलिस ने रोका

  • Updated on 6/9/2023

नई दिल्ली, (टीम डिजिटल): दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में ग्रेनो प्राधिकरण पर धरना दे रहे किसानों को समर्थन देने जा रहे भाकियू भानु के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर भानु प्रताप सिंह को पुलिस ने दनकौर में रोक लिया। इस दौरान कार्यकर्ताओं और पुलिस में नोकझोंक भी हुई। लेकिन पुलिस ने उन्हें जाने नहीं दिया। इसके बाद ठाकुर भानु प्रताप सिंह ने जेल भेजे गए किसानों की रिहाई की मांग को लेकर पुलिस को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।  
6 जून को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर धरना दे रहे किसानों को पुलिस ने लाठीचार्ज कर उनको जेल में बंद कर दिया था। जिसको लेकर किसान संगठनों में रोष है। इसी मामले को लेकर शुक्रवार को दी गई भाकियू भानु के राष्ट्रीय अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह अपने काफिले के साथ दनकौर में एक बैठक करने के बाद वहां समर्थन देने के लिए निकल ही रहे थे। उसी दौरान एसीपी पवन गौतम और थाना प्रभारी संजय सिंह समेत पुलिस बल ने सभी कार्यकर्ताओं को रोक दिया। इस दौरान काफी कहासुनी भी हुई। संगठन के पदाधिकारियों का कहना है कि पुलिस द्वारा किसानों पर लाठीचार्ज कर गलत किया गया है। जिसको लेकर किसानों में भारी रोष है। यदि जल्द ही किसानों की रिहाई नहीं होती है, तो किसान एकजुट होकर बड़ा आंदोलन भी इसको लेकर करेंगे। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन भी एसीपी को सौंपकर जल्द ही किसानों की रिहाई की मांग की है। इस मौके पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अजब सिंह कसाना, राष्ट्रीय महामंत्री बीसी प्रधान, ठाकुर सत्यवीर सिंह, महकार नागर, राजकुमार नागर कनारसी और राजीव नागर कई किसान उपस्थित रहे।
प्राधिकरण की गलत नीतियों का भुगतान कर रहा नोएडा का किसान
शुक्रवार को नोएडा प्रेस क्लब में भारतीय किसान यूनियन (टिकैट) के पदाधिकारियों ने प्रेसवार्ता की। भाकियू के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी सुभाष चौधरी ने बताया कि प्राधिकरण की गलत नीतियों का भुगतान नोएडा का किसान कर रहा है। प्राधिकरण आज तक किसानों की आबादी का मसला नहीं सुलझा सका। किसानों को धारा-10 के नोटिस भेजे जा रहे है। ये प्राधिकरण की ही चूक है कि समय से लाल डोरा निश्चित नहीं किया गया। किसानों ने कहा कि यदि मांगों को नही पूरा किया जाता तो अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन किया जाएगा।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.