Monday, May 16, 2022
-->
priority-to-those-who-register-for-rtpcr-test-before-reaching-india

भारत पहुंचने के पूर्व आरटीपीसीआर जांच के लिए रजिस्ट्रेशन कराने वालों को प्राथमिकता 

  • Updated on 12/4/2021

दिल्ली हवाईअड्डे पर आरटीपीसीआर जांच के लिए बढ रहा भीड़, बनाए गए 20 नए काउंटर
- हाई रिस्क देशों से आने वाले यात्रियों के लिए टर्मिनल पर ही अनिवार्य है आरटीपीसीआर जांच करवाना
- भीड़ से यात्रियों को हो रही परेशानी को देखते हुए लिया गया फैसला
- पहले से ही सुविधा पोर्टल पर ऑन लाइन रजिस्ट्रेशन करवा कर पहुंचने वालों के लिए होगी अलग लाइन 

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।
वैश्विक महामारी कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के फैलने के साथ ही भारत सरकार की स्वास्थ्य मंत्रालय ने हाई रिस्क देशों से आने वालों के लिए टर्मिनल पर ही जांच को अनिवार्य करने के आदेश दिए हैं। इस आदेश के साथ ही टर्मिनल पर जांच कराने वाले यात्रियों की भीड़ बढऩे लगी है। इससे यात्रियों को हो रही परेशानी को देखते हुए एयरपोर्ट टर्मिनल 3 पर और 20 काउंटर बनाए गए हैं। वहीं इसमें उन यात्रियों को प्रमुखता दी जा रही है, जिन्होंने भारत आने से पहले ही सुविधा पोर्टल पर ऑनलाइन आरटीपीसीआर जांच के लिए रजिस्ट्रेशन करवा कर पहुंच रहे हैं। उनके लिए अलग से काउंटर तैयार किया गया है। 

गौरतलब हो कि भारत सरकार स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने संक्रमण के खतरे को देखते हुए देशों के दो कैटेगरी बनाए हैं। इसमें ए कैटेगरी को हई रिस्क देशों में रखा गया है, जिनमें कुल 15 देश हैं। इन देशों से आनेवाले यात्रियों के लिए जांच के बाद ही टर्मिनल छोडऩे के आदेश हैं। इसके कारण बीते दिनों में जांच के लिए यात्रियों की भीड़ लग जाती है। इसे लेकर यात्रियों ने शिकायत भी की थी, जिसमें भीड़ के कारण सोशल डिस्टेंस का पालन का नियम टूट रहे होने की बात कही थी। इसके बाद कार्रवाई करते हुए दिल्ली एयरपोर्ट ऑपरेटर दिल्ली इंटरनेशन एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल) की ओर से ये काउंटर तैयार किए गए हैं। 
डायल के प्रवक्ता के अनुसार सामान्यता अभी एक यात्री को टर्मिनल पर पहुंच आरटीपीसीआर जांच के लिए काउंटर पर रजिस्ट्रेशन, फिर जांच और उसके रिपोर्ट के मिलने में 6 घंटे से अधिक का समय लग जा रहा है। पर अगर यात्री पहले ही पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवा कर पहुंचते हैं तो लगने वाले इस समय में करीब 1 घंटे की बचत होगी और भीड़ से भी निजात मिलेगा। 

80 फीसदी यात्री करवा रहे हैं रैपिड पीसीआर जांच 

दिल्ली हवाईअड्डे पर हाई रिस्क देशों से अन्य देशों से आने वाले 2 फीसदी यात्रियों की रैंडम जांच हो रही है. जिसका शुल्क यात्रियों से नहीं लिया जा रहा है। नए नियम लागू होने के बाद हाई रिस्क वाले देशों जैसे ब्रिटेन, जर्मनी, सिंगापुर, इजराइल, फ्रांस आदि से आने वाले लोगों की आरटीपीसीआर व रैपिड पीसीआर जांच की जा रही है. आने वाले 80 फीसदी यात्री रैपिड पीसीआर जांच करवा रहें हैं। प्रशासन की तरफ से आरटीपीसीआर रिपोर्ट देने के लिए चार से छह घंटे व रैपिड पीसीआर रिपोर्ट देने के लिए 90 मिनट का समय रखा गया है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.