Tuesday, Nov 30, 2021
-->
reasons-for-death-of-mahant-narendra-giri-were-disclosed-by-cbi-in-its-charge-sheet-rkdsnt

महंत नरेंद्र गिरि की मौत के कारणों का CBI ने अपनी चार्जशीट में किया खुलासा

  • Updated on 11/24/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के पूर्व अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि अपने शिष्य आनंद गिरि, पुजारी आद्या प्रसाद तिवारी, उनके बेटे संदीप तिवारी की वजह से ‘ भारी मानसिक तनाव’ में थे और उन्होंने समाज की नजरों में ‘‘ मानहानि और अपमान’’ से बचने के लिए जीवन लीला समाप्त कर ली थी। उनकी मौत की जांच कर रही सीबीआई ने अपने आरोप पत्र में यह दावा किया है।  

मुलायम ने कुमार विश्वास को समाजवादी पार्टी में शामिल होने का न्यौता दिया

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने वह वीडियो भी बरामद किया है जिसे महंत ने आत्महत्या करने से पहले कथित तौर पर रिकॉर्ड किया था। इसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि आनंद गिरि ‘ संपादित वीडियो’ जारी करने वाले थे जिसमें उन्हें महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में दिखाया गया है।

पीएम मोदी से मिलने के बाद सुब्रमण्यम स्वामी से मिलीं ममता बनर्जी

 

एजेंसी ने 20 नवंबर को आरोप पत्र दाखिल किया है जिसमें प्रयागराज स्थित बड़े हनुमान मंदिर के पुजारी आनंद गिरि, आद्या प्रसाद तिवारी और संदीप तिवारी को आरोपी बनाया गया है और सभी इस समय आत्महत्या के लिए उकसाने, आपराधिक साजिश रचने के आरोप में न्यायिक हिरासत में हैं। 

केजरीवाल ने की सिद्धू की तारीफ, कहा- कैप्टन और चन्नी ने की उन्हें दबाने की कोशिश 

गौरतलब है कि नरेंद्र गिरि संतों के सबसे बड़े संगठन के अध्यक्ष थे और 20 सितंबर को प्रयागराज के बाघम्बरी मठ के कमरे में उनका शव फंदे से झूलता हुआ मिला था। आरोप पत्र के मुताबिक नरेंद्र गिरि को भय था कि आनंद गिरि महिला के साथ उनका कथित संपादित वीडियो जारी कर सकते हैं ताकि उनकी छवि धूमिल की जा सके। एक अन्य वीडियो में वह अपने शिष्यों से दूसरे के चेहरे पर तस्वीर लगाकर वीडियो बनाने के बारे में पूछते नजर आ रहे हैं।

कपड़े, जूतों पर GST बढ़ोतरी और महंगाई को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

 

comments

.
.
.
.
.