Monday, Jan 21, 2019

1984 दंगा मामला: दिल्ली HC के फैसले को चुनौती देने सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सज्‍जन कुमार

  • Updated on 12/22/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा 1984 सिख दंगा मामले में सजा पाए सज्जन कुमार अब सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने वाला है। तीन दिन पहले ही उच्च न्यायालय ने उन्हें दंगों से जुड़े एक अन्य मामले में उम्रकैद की सजा सुनाई थी। मिली जानकारी के मुताबिक सज्जन कुमार इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने वाला है।

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट ने सज्जन कुमार को 31 दिसंबर तक सरेंडर करने का आदेश दिया है। इससे पहले सज्जन कुमार उच्च न्यायालय में 30 जानवरी तक का समय मांगा था, लेकिन यह याचिका कोर्ट ने खारिज करते हुए सज्जन को 31 दिसंबर तक ही सरेंडर करने का आदेश दिया था।

सिसोदिया की सफाई के बाद अलका ने दिया बड़ा बयान, कही ये बात

उच्च न्यायालय के इस आदेश के बाद अब सज्जन देश के उच्चतम न्यायालय में जाने वाला है। दिल्ली उच्च न्यायालय के निर्देश पर सज्जन कुमार ने अपना मोबाइल फोन अदालत को सौंपा। कुमार पर सिखों की हत्या करने के लिए भीड़ को उकसाने का आरोप है। इसके अलावा कोर्ट ने सज्जन कुमार पर पांच लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था। 

हाईकोर्ट ने अन्‍य 5 दोषियों पर एक-एक लाख का जुर्माना लगाया था। इनमें बलवान खोखर, कैप्टन भागमल, गिरधारी लाल को उम्रकैद जबकि महेंद्र यादव और किशन खोखर की सजा 3 से 10 साल बढ़ा दी थी। जस्टिस एस मुरलीधर और जस्टिस विनोद गोयल की खंडपीठ ने अपने फैसले में कहा था कि 1947 में विभाजन के समय हुए नरसंहार के 37 साल बाद फिर हजारों लोगों की हत्या हुई।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.