Friday, Dec 09, 2022
-->
sale of fake products in the name of fit india scheme, patients could not become healthy

फिट इंडिया योजना के नाम पर नकली प्रोडेक्ट की बिक्री, रोगी नहीं बन पाए निरोगी, लाखों रुपए का चूना

  • Updated on 9/11/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। भारत सरकार की फिट इंडिया योजना के तहत निरोगी बनाने का झांसा देकर 2 व्यक्तियों से 3 लाख रुपए से ज्यादा ठग लिए गए। बीमारी का कारगर इलाज होने के नाम पर नकली प्रोडेक्ट थमा दिए गए। प्रोडेक्ट का प्रयोग करने के बावजूद कोई लाभ नहीं मिल पाया। 

पीड़ितों द्वारा रकम की डिमांड करने पर उन्हें भेज भिजवाने की धमकी दी गई। तंग आकर इस संबंध में पुलिस से शिकायत की गई। पुलिस ने 2 महिलाओं सहित 5 आरोपियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कर जांच आरंभ कर दी है। सिहानी गेट थानाक्षेत्र में धोखाधड़ी का यह मामला प्रकाश में आया है। 

न्यू आर्य नगर निवासी शिव कुमार आर्य को 3 लाख तथा उनकी परिचित वंदना चौधरी को 3 हजार 600 रुपए का चूना लगा दिया गया। डीपीएस किड्स नामक स्कूल संचालक शिव कुमार का शुगर व हाथ-पांव में गांठ का इलाज चल रहा है। कुछ दिन पहले उनके घर पर मीनाक्षी जैन, प्रिया त्यागी, अमित राणा, अतुल जैन व मनोज त्यागी आए थे। 

जिन्होंने खुद को फिट इंडिया योजना के अंतर्गत कार्यरत होना बताया था। आरोपियों ने कहा कि वह विभिन्न बीमारियों का इलाज करने के लिए प्रोडक्ट देते हैं। प्रोडक्ट का प्रयोग करने से काया निरोगी हो जाती है। झांसे में आकर शिव कुमार ने 3 लाख रुपए के प्रोडक्ट खरीद लिए। वंदना चौधरी ने भी कुछ प्रोडेक्ट खरीदे थे। 

प्रोडेक्ट का इस्तेमाल करने के बाद भी शिव कुमार व वंदना को कोई फायदा नहीं पहुंचा। ऐसे में दोनों ने रकम वापस लौटाने को कहा। जिस पर आरोपियों ने जेल भिजवाने की धमकी दे डाली। आरोप है कि फिट इंडिया योजना के बहाने ठगी का गैंग चलाया जा रहा है। 

प्रोडेक्ट बेचने के उपरांत ऑनलाइन क्लास के जरिए उनके सेवन के तरीके भी बताए जाते हैं। उधर, एसएचओ नरेश कुमार शर्मा ने बताया कि इस प्रकरण में 5 आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। जांचोपरांत उचित कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.