Monday, Nov 18, 2019
sexual exploitation case swami chinmayanand seeking action under gangster act on four accused

चिन्मयानंद ने कोर्ट से रंगदारी मांगने वालो पर गैंगस्टर एक्ट लगाने की मांग की

  • Updated on 10/21/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। यौन शोषण के मामले में जेल में बंद पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद ने जेल से सोमवार को एक पत्र भेजकर पुलिस अधीक्षक से पांच करोड़ की रंगदारी मांगने के आरोपी बलात्कार पीड़िता समेत चारों आरोपियों पर गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की मांग की है और उनके अधिवक्ता ने सीजेएम के न्यायालय में प्रार्थना पत्र देकर रंगदारी मांगने के आरोपियों पर गैंगस्टर एक्ट लगाने मांग संबंधी इस प्रार्थना पत्र को स्पेशल कोर्ट को ट्रांसफर किया जाए। 

INX मामला में चिदंबरम की जमानत अर्जी पर फैसला सुनाएगी सुप्रीम कोर्ट

स्वामी चिन्मयानंद की सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता पूजा सिंह ने यहां बताया कि सीजेएम ओमवीर सिंह की अदालत में उन्होंने गैंगस्टर एक्ट लगाने के लिए जो प्रार्थना पत्र दिया था उस पर सुनवाई होने के बाद आदेश को सुरक्षित कर लिया गया है। जेल अधिकारी ने बताया कि पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद ने उन्हें एक पत्र दिया है जिसमें उनसे पांच करोड़ की रंगदारी मांगने वाले आरोपियों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की मांग की गयी। यह पत्र विभागीय डाक से पुलिस अधीक्षक शाहजहांपुर के पास भेज दिया गया है। 

आरे कालोनी में मेट्रो परियोजना पर रोक नहीं : सुप्रीम कोर्ट 

स्वामी चिन्मयानंद की सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता पूजा सिंह ने यहां पीटीआई भाषा को बताया कि उन्होंने यहां सीजेएम ओमवीर सिंह की अदालत में आज एक प्रार्थना पत्र दिया है जिसमें कहा गया है कि रंगदारी मांगने के आरोपियों पर गैंगस्टर लगाया जाना चाहिए । उसमें यह अनुरोध भी किया गया है कि न्यायालय इसे गैंगस्टर एक्ट की सुनवाई के लिए स्पेशल कोर्ट को भेजें। 

विधानसभा चुनाव : शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में होने वाला है बदलाव

चिन्मयानंद ने लिखा है कि वह नौ अगस्त को अपने आवास पर बैठे थे तभी सचिन सेंगर उनके पास आया और उनसे कहा कि आपकी प्रतिष्ठा धूमिल करने के उसके पास पूरे साक्ष्य हैं आप पांच करोड रुपए दे दो नहीं तो आपके विरुद्ध झूठा मुकदमा दर्ज करा दिया जाएगा। चिन्मयानंद द्वारा भेजे गये पत्र में कहा गया है कि आरोपी संजय विक्रम सचिन तथा पीड़िता को रंगदारी मामले में एसआईटी ने दोषी पाया है जिन्हें जेल भी भेजा जा चुका है वहीं उन्होंने एसआईटी के प्रेस नोट का हवाला देते हुए कहा कि उक्त चारों आरोपियों के अलावा अन्य लोग भी गिरोह बनाकर इस मामले में संलिप्त हो कर अपराध कर रहे हैं। 

कांग्रेस की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष को लेकर फिर शुरू हुई हलचल

पत्र में उन्होंने आरोपी की मां को भी अपराधिक एवं असामाजिक गतिविधियों में संलिप्त बताई है साथ ही पीड़िता के पिता पर दो मुकदमे का विवरण तथा संजय पर थाना तिलहर में दर्ज हत्या के प्रयास समेत दो मुकदमों का विवरण दिया है। उन्होंने आरोपियों पर गैंगेस्टर एक्ट लगाने की मांग की है। गौरतलब है कि स्वामी चिन्मयानंद पर उन्हीं के कालेज में पढऩे वाली एक छात्रा ने वीडियो वायरल करके यौन शोषण का आरोप लगाया था। उसके बाद पीड़िता लापता हो गई थी। 

केजरीवाल सरकार अब केंद्र की पीएम किसान योजना लागू करने को तैयार

पीड़िता की ओर से स्वामी चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाए गए थे। उधर, चिन्मयानंद के अधिवक्ता ने पांच करोड़ रंगदारी मांगने का मुकदमा दर्ज कराया था जिसमें पीड़िता समेत चार आरोपियों को विशेष जांच दल (एसआईटी) ने जेल भेज दिया है। योन शोषण के मामले में स्वामी चिन्मयानंद भी जेल में बंद है। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.