Tuesday, Nov 29, 2022
-->
shraddha murder case: know what is m, a, dlf, c and what is the meaning of 16 points and map

श्रद्धा मर्डर केसः जानें क्या है- M, A, DLF, C और क्या है 16 प्वाइंट व मैप का मतलब

  • Updated on 11/23/2022

नई दिल्ली/ संजीव यादव। श्रद्धा मर्डर केस में पुलिस को एक सीक्रेट कागज मिला है। इस कागज में अंग्रेजी के शब्दों में कुछ एल्फाबेट लिखे हैं। प्रारंभिक जांच में जो एल्फाबेट कागज पर लिखे मिले हैं, वह उसकी बताई थ्योरी से मैच खाते हैं कि उसने शव के टुकड़े करने के बाद अंगों को कहां- कहां ठिकाने लगाया।

अब पुलिस एक्सपर्ट्स के जरिए उस कागज की गुत्थी को सुलझाने में लगी है और अब तक के मिले सबूत और अंगों के तारों को उससे जोड़ रही है। पुलिस के दावों के मुताबिक कागज के पन्ने के जरिए वह शातिर आफताब के हत्या के प्लान के बाद श्रद्धा के शव को ठिकाने लगाने की गुत्थी को सुलझा लेगी।

जांच के तहत आफताब के ऑफिस बैग में कुछ डायरी और कागज पुलिस को मिले थे। हालांकि उस दौरान पुलिस ने उसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई लेकिन मोबाइल रिकॉर्ड खंगालने में उन्हें एक कागज पर कुछ शब्द और चिन्ह के निशान मिले, जिसके बाद उसकी एक डायरी को जांचा गया, जिसमें वो पन्ना मिला। इसके बाद पुलिस अब इस पन्ने की थ्योरी को सुलझाने में लग गई है।

पन्ने की थ्योरी के मुताबिक ‘एम’, ‘जी’,  ‘ए’ का कई बार जिक्र किया गया है इसके अलावा 16 प्वाइंट भी इंगित हैं। इसके अलावा दो गोलधारे के साथ हथियार नुमा डिजाइन किए गए चित्र भी हैं।

प्रारभिंक जांच में वह एम को महरौली व मैदानगढ़ी,जी को ग्रुरुग्राम और ए को ओखला से जोड़ रही है साथ ही डीएलएफ शब्द के आगे फिर से ए और ‘सीपी’ के आगे फिर से ‘एम’ लिखा है। इस संबंध में पुलिस ने आफताब से भी पूछताछ की है लेकिन उसने इसे ऑफिस के काम का कागज बताया है। 

यह था प्लान: शव को ऐसे लगाया जाए ठिकाने कि पकड़े जाने पर भी वह न फंसे 

मिली डायरी के पन्ने की थ्योरी के मुताबिक उसने लाश को टुकड़े में काटा और किस अंग को कहां फेंकना है और शरीर का कौन सा हिस्सा किस क्षेत्र में डालना है, इसका प्लान हो सकता है क्योंकि उसमें जो शब्द लिखे है वह उसकी थ्योरी से मैच खाते हैं। अगर पन्ने की थ्योरी सही है तो उसने शव को केवल मेहरौली के जंगलों, मैदानगढ़ी के तालाब और गुरुग्राम के पास की झाडिय़ों में ही नहीं फेंका, बल्कि अलग-अलग ठिकानों पर लगाए है। इसके अलावा पन्ने की थ्योरी से हमें वैपन और कुछ नए सबूत मिलने की संभावना ज्यादा है। 

अभी तक कबूलनामे और थ्योरी पर टिकी है आफताब के जुर्म की कहानी 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भले ही कई खुलासे और थ्योरी सामने आई है लेकिन शातिर आफताब ने जितना भी कबूल किया है और सबूत मिले है वह केवल एक थ्योरी पर टिके हैं। उन्हें साबित करने के लिए फोरेंसिक और डीएनए का मिलान होना बेहद जरूरी है। यही नहीं उसने कोर्ट में श्रद्धा को मारने की बात को स्वीकार किया लेकिन चेलेंज येे है कि स्वीकार करने के बाद भी उसकी बताई थ्योरी और पुलिस की थ्योरी का मिलान होना भी बेहद जरूरी है। 

कोर्ट में बताया, अब तक पुलिस के पास ये है जानकारी और सबूत

- वारदात में शामिल आरी, हथियार नहीं मिले हैं, श्रद्धा के सर का हिस्सा भी नहीं मिला है, बस कुछ हड्डियां और जबड़े का हिस्सा मिला है।
- वारदात में शामिल कपड़े भी हाथ नहीं लगे हैं, फोन भी अभी तक अनट्रेसबल है। 
- शातिर है आफताब, हर घंटे बदलता है बयान, नार्को से पहले पोलीग्राफ टेस्ट 
-  हिमाचल के तोष गांव से ड्रग्स खरीदने और उसके सेवन करने के सबूत मिले हैं
-  आफताब गांजे और चरस का आदी है, आफताब के फोन से तोष के कुछ ड्रग तस्करों के नम्बर भी मिले, 18 अक्तूबर को छतरपुर इलाके का आफताब का एक सीसीटीवी, जिसमें वह बैग के साथ दिखा है
-  महरौली के जंगल से और मानव अवशेष बरामद किए हैं, जिसमें एक कटा हुआ जबड़ा और हड्डियां मिलीं
-  श्रद्धा के पिता के डीएनए सैंपल से मिलान के भेजे गए, रिपोर्ट का इंतजार 
-  सबूत छुपाने की बात कबूला है, हत्या के बाद घर में मिली श्रद्धा की 3 तस्वीरों को नष्ट कर दिया

पॉलीग्राफ टेस्ट में आफताब खोलेगा राज

आफताब की रिमांड चार दिन बढऩे के बाद मंगलवार देर रात या बुधवार को रोहिणी में पॉलीग्राफ टेस्ट होगा, जिसके बाद उसका नार्को टेस्ट कराया जाएगा, जिसकी जानकारी पुलिस ने कोर्ट को दी है।  इसी संबंध में आफताब को मंगलवार शाम को पुलिस अस्पताल लेकर पहुंची, जहां एनिस्थिसिया टेस्ट के अलावा कई मेडिकल टेस्ट किए गए।

पुलिस के मुताबिक किसी भी टेस्ट के लिए आरोपी का मेडिकल फिट होना बेहद जरूरी होता है, जिसके लिए उसे जांच के लिए अस्पताल लाया गया है,रिपोर्ट आने के बाद उसका पोलीग्राफ किसी भी समय किया जा सकता हे।  इससे पहले कोर्ट ने गुरुवार को 22 नवम्बर तक दिल्ली पुलिस को आफताब का नार्को टेस्ट कराने का आदेश दिया था। आफताब ने दिल्ली पुलिस को अब तक हत्या में इस्तेमाल हथियार, श्रद्धा की खोपड़ी, कपड़े और फोन की जानकारी नहीं दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.