Thursday, Jan 27, 2022
-->
snooping-person-is-in-violation-of-women-s-fundamental-right-to-privacy

'महिला शौचालय में पुरुष की तांक-झांक निजता का उल्लंघन'

  • Updated on 4/9/2016

नई दिल्ली (ब्यूरो)। ताक-झांक करने वाले व्यक्ति महिलाओं के निजता के मौलिक अधिकार का उल्लंघन करते है। यह टिप्पणी करते हुए दिल्ली की एक अदालत ने एक युवक को एक साल कैद की सजा दी है। अदालत ने कहा कि महिलाओं के प्रति होने अपराध को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

दिल्ली : अमन विहार में महिला से रेप, अभी तक दर्ज नहीं हुआ केस

साथ ही दिल्ली सरकार से कहा कि वह कुछ ऐसी नीतियां बनाए ताकि युवकों का लिंग भेदभाव न करने के बारे में जागरूक किया जा सके । अदालत ने इस मामले में एक 19 साल के युवक को एक साल की सजा दी है। वह उस शौचालय में तांक-झांक कर रहा था,जिसे पीड़िता प्रयोग कर रही थी।

अदालत ने उसे महिलाओं की निजता का उल्लंघन करने के मामले में दोषी करार देते हुए यह सजा दी है। अदालत ने कहा कि इस तरह किसी महिला द्वारा प्रयोग किए जा रहे बाथरूम या शौचालय में ताक-झांक करना पुरूषों के मनोरंजन का एक खराब तरीका है,परंतु यह महिलाओं के लिए मानसिक प्रताडऩा है।

इस तरह का काम करने वाले व्यक्ति यह नहीं सोच पाते हैं कि वह ऐसा करके महिलाओं के निजता के अधिकार का उल्लंघन कर रहे हैं। अदालत ने कहा कि इस तरह की हरकतों के कारण महिलाओं उन जगहों पर भी अपने आप को सुरक्षित नहीं पाती है, जिन जगहों पर उनको सुरक्षा मिलनी चाहिए। महानगर दंडाधिकारी सुशील बाला डागर ने कहा कि शौचालय में भी बंद दरवाजे के पीछे महिलाओं की निजता का उल्लंघन किया जा रहा है।

हालांकि इस मामले में आरोपी ने अपनी गलती मान ली और माफी मांगी।इसलिए कोर्ट के उनके प्रति नरमी बरतते हुए उसे एक साल की सजा दी है। साथ ही उसे निर्देश दिया है कि वह पीड़िता को दस हजार रुपए मुआवजा दे। इस मामले में घटना 23 अगस्त 2013 की है। पीड़िता द्वारा प्रयोग किए जा रहे शौचालय में आरोपी झांककर देख रहा था।

अदालत ने इस मामले में एक 19 साल के युवक को एक साल की सजा दी है। वह उस शौचालय में ताक-झांक कर रहा था, जिसे पीड़िता प्रयोग कर रही थी। अदालत ने उसे महिलाओं की निजता का उल्लंघन करने के मामले में दोषी करार देते हुए यह सजा दी है

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें…एंड्रॉएड ऐप के लिए यहांक्लिक करें.
comments

.
.
.
.
.