Tuesday, Dec 01, 2020

Live Updates: Unlock 7- Day 1

Last Updated: Tue Dec 01 2020 08:34 AM

corona virus

Total Cases

9,463,254

Recovered

8,888,595

Deaths

137,659

  • INDIA9,463,254
  • MAHARASTRA1,823,896
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA883,899
  • TAMIL NADU780,505
  • KERALA599,601
  • NEW DELHI566,648
  • UTTAR PRADESH543,888
  • WEST BENGAL526,780
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA318,725
  • TELANGANA268,418
  • RAJASTHAN262,805
  • BIHAR235,616
  • CHHATTISGARH234,725
  • HARYANA232,522
  • ASSAM212,483
  • GUJARAT206,714
  • MADHYA PRADESH203,231
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB151,538
  • JAMMU & KASHMIR109,383
  • JHARKHAND104,940
  • UTTARAKHAND74,340
  • GOA45,389
  • HIMACHAL PRADESH38,977
  • PUDUCHERRY36,000
  • TRIPURA32,412
  • MANIPUR23,018
  • MEGHALAYA11,269
  • NAGALAND10,674
  • LADAKH7,866
  • SIKKIM4,967
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,631
  • MIZORAM3,806
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,325
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
son in law killed father in law and two sister in law in the greed of property pragnt

जायजाद के लालच में दामाद ने सास-ससुर समेत दो सालियों को उतारा मौत के घाट

  • Updated on 8/28/2020

उत्तराखंड/रुद्रपुर। कलयुगी दामाद ने अपने ससुराल की जमीन अपने नाम न करने पर ससुर, सास और दो सालियों की हत्या कर उन्हें उन्ही के घर में गड्डा खोदकर दफना दिया। हैरान करने वाली बात यह है कि इस पूरे मामले में बेटी भी शामिल रही। इस हत्याकांड को एक वर्ष पूर्व अंजाम दिया गया था। जिसका खुलासा आज हुआ है।

NEET-JEE परीक्षा विवाद पर ममता ने साधा मोदी सरकार पर निशाना, कहा- उपदेश देने में व्यस्त केंद्र

प्रॉपर्टी को लेकर बना रहा था दबाव
प्राप्त जानकारी के अनुसार रुद्रपुर निवासी 55 वर्षीय हीरालाल व उसकी पत्नी 45 वर्षीय हेमवती तथा दो बेटियां पार्वती 24 वर्ष और दुर्गा 20 वर्ष ट्रांजिट कैंप क्षेत्र की राजा कॉलोनी में रहते थे। हीरालाल ने अपनी सबसे बड़ी बेटी लीलावती का विवाह नरेंद्र गंगवार से किया था। विवाह के बाद से ही नरेंद्र अपने ससुर पर उनकी प्रॉपर्टी को अपने नाम कराने के लिए वर्ष 2015 से लगातार दबाव बना रहा था, इसमे उसकी पत्नी भी शामिल थी।

Uttarakhand news

चमोली: युवक ने पेश की मिसाल, बछिया को कंधे पर ढोकर पहुंचाया अस्पताल

पूछताछ के दौरान उगला राज
हीरालाल ने अपनी दो अविवाहित बेटियां का हवाला देते हुए पूरी प्रॉपर्टी नरेंद्र के नाम करने से मना कर दिया था। तभी से नरेंद्र ने अपने ससुर और परिवार के अन्य सदस्यों को ठिकाने लगाने की ठान की थी। पुलिस सूत्रों के अनुसार 20 अप्रैल 2019 को नरेंद्र व उसकी पत्नी और किराएदार विजय कुमार ने रात में चारो को मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने मामले में जब नरेंद्र से पूछताछ की तो उसने सारा राज उगल दिया। नरेंद्र ने बताया कि 20 अप्रैल 2019 को तीनों ने मिलकर पहले ससुर और साली की हत्या की। फिर बाहर से दूध लेकर लौटी सास और साली को भी मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद तीनों ने चारों के शव को घर में ही गड्ढा खोदकर दफना दिया। 

उत्तराखंड में सक्रिय हुआ आम आदमी पार्टी का आईटी सेल, लोगों से ऐसे कर रहे हैं संपर्क

हत्या का ऐसे हुआ खुलासा
नरेंद्र के ससुर हीरालाल का बरेली के मीरगंज में मकान और 12 बीघा खेत है। जिसकी देख रेख वहां दुर्गाप्रसाद करते हैं। अगस्त माह में नरेंद्र बरेली के मीरगंज गया था। जहां मकान और खेतों की देखभाल कर रहे दुर्गाप्रसाद को उसने बताया कि उसके ससुर और साली की मौत हो चुकी है। जिनका उसने पिछले साल ही अंतिम संस्कार कर दिया था। जबकि सास और दूसरी साली लापता हैं। उसने यह भी बताया कि सारी संपत्ति अब उसके नाम हो गई है। दुर्गा प्रसाद को नरेंद्र की बात पर शक हो गया। वह रुद्रपुर आए। उन्होंने आसपास के लोगों से पूछताछ की। उनको पता चला कि मकान एक साल से बंद है। दुर्गा प्रसाद ने पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने जब नरेंद्र को हिरासत में लेकर पूछताछ की। उसने पत्नी और साथी किरायदार विजय के साथ मिलकर हत्या की बात कुबूल ली।

comments

.
.
.
.
.