Sunday, Jan 23, 2022
-->
swami chinmayanand bjp leader rape accused remained under medical supervision

बलात्कार आरोपी भाजपा नेता चिन्मयानंद अभी भी हैं मेडिकल निगरानी में

  • Updated on 9/17/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बलात्कार के आरोप में घिरे पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद मंगलवार को चिकित्सकीय निगरानी में रहे। एक दिन पहले चिन्मयानंद ने बेचैनी की शिकायत की थी। सोमवार को कथित बलात्कार पीड़िता द्वारा अपना बयान एक मजिस्ट्रेट के समक्ष दर्ज कराने के बाद चिन्मयानंद ने बेचैनी की शिकायत की थी। 

सिंघवी की कोर्ट में नहीं चली दलीलें, शिवकुमार को भेजा न्यायिक हिरासत में

यहां के एक निजी र्निसंग होम के चिकित्सक डॉक्टर गौरव मिश्रा ने 72 वर्षीय चिन्मयानंद के स्वास्थ्य की जांच करने के बाद बताया कि वह आज दोपहर तीन डाक्टरों की टीम के साथ स्वामी चिन्मयानंद को देखने गए थे। पूर्व राज्यमंत्री ने कमजोरी और हाथ पैरों में कम्पन होने के साथ—साथ शुगर लेवल घटने—बढ़ने की शिकायत की थी। उन्होंने कहा कि यद्यपि चिन्मयानंद को किसी अस्पताल में भर्ती नहीं कराया गया। 

एमनेस्टी चीफ ने कश्मीर को लेकर मोदी सरकार पर बोला हमला

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि एसआईटी मामले में जांच जारी रखे हुए है लेकिन भाजपा नेता के खिलाफ अभी तक कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है। मामले की जांच कर रही एसआईटी पीड़िता को सोमवार को अदालत ले गई थी जहां उसने अपना बयान न्यायिक मजिस्ट्रेट गीतिका सिंह के समक्ष दर्ज कराया। उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त एसआईटी ने रविवार को पीड़िता के तीन मित्रों के अलावा उसके कॉलेज के कुछ कर्मचारियों से पूछताछ की थी। 

केजरीवाल बोले- AAP सरकार की योजनाओं के चलते नहीं चुभ रही है आर्थिक मंदी

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि एसआईटी ने उसके बाद उन्हें बयान दर्ज कराने के लिए यहां पुलिस लाइंस बुलाया था। एसआईटी ने दो कालेज के प्राचार्यों और उनके कर्मचारियों से भी पूछताछ की थी। लड़की के पिता ने अपनी पुत्री द्वारा एसआईटी को दिये गए कुछ वीडियो लीक होने को रविवार को एक ‘‘षड्यंत्र’’ करार दिया था और कहा था कि वह उच्चतम न्यायालय से इसकी जांच का अनुरोध करेंगे। 

INX मीडिया मामला : ED ने चिदंबरम के पूर्व पीएस को फिर किया तलब

विधि की छात्रा ने अपने आरोपों के समर्थन में शनिवार को एसआईटी को एक पेन ड्राइव दी थी जिसमें 43 वीडियो थे। अधिकारियों ने छात्रा से कहा था कि उसके पास जो भी सबूत है वह उन्हें सौंप दे। एसआईटी लड़की को शुक्रवार सुबह चिन्मयानंद के शयनकक्ष ले गई थी और वहां से सबूत एकत्रित किये थे। 

मंदी की मार: हीरोमोटोकॉर्प लाई कर्मचारियों के लिए VRS प्लान

एक विधि छात्रा द्वारा स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार के आरोप की जांच कर रही विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने सोमवार को कथित पीड़िता का यहां की न्यायालय में सीआरपीसी की धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराया था। देर रात चिन्मयानंद की तबीयत खराब हो गई थी और मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने उनका चेकअप करके उन्हें दवाइयां दी थीं। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.