tabrez ansari mob lynching postmortem report cardiac arrest

तबरेज मॉबलिंचिंग: पुलिस ने कहा- कार्डियक अरेस्ट से हुई मौत, आरोपियों से हटाई हत्या की धारा

  • Updated on 9/10/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। झारखंड (Jharkhand) में हुए तबरेज अंसारी (Tabrez Ansari) मॉबलिंचिंग केस (Mob Lynching case) में पुलिस (Police) ने डॉक्टरों की रिपोर्ट का हवाला देते हुए हत्या की धारा को हटा दिया है। पुलिस का कहना है कि डॉक्टरों की रिपोर्ट के मुताबिक तबरेज की मौत कार्डियक अरेस्ट (Cardiac arrest) के कारण हुई, इसलिए पुलिस ने धारा 302 को हटा दिया है।  

इस केस से धारा 302 के हटने के बाद अब आरोपियों को राहत मिली है, क्योंकि अब उनको मौत की सजा नहीं होगी। पुलिस का कहना है कि डॉक्टरों की रिपोर्ट आने के बाद अब वो इस रिपोर्ट के आधार पर ही चार्जशीट दाखिल करेंगे। बता दें कि आज से करीब 4 माह पूर्व झारखंड के सरायकेला-खरसावां इलाके में चोरी का आरोप लगाते हुए भीड़ ने तबरेज को पीटा था। 

लिंचिंग नहीं, पुलिस और डॉक्टर की लापरवाही से गई तबरेज अंसारी की जान

कई घंटों तक की गई थी तबरेज की पिटाई
इस दौरान भीड़ ने उसे जबरन जय श्री राम के नारे लगाने के लिए भी मजबूर किया। 22 साल के तबरेज को लगातार कई घंटो तक पीटा गया, जिसके बाद उसको पुलिस के हवाले कर दिया गया और उसकी मौत हो गई। इस मामले में 11 लोगों को आरोपी बनाकर उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया। अब पुलिस ने तबरेज की पोस्टमार्टम की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि उसकी मौत कार्डियक अरेस्ट के चलते हुई। 

झारखण्ड: तबरेज अंसारी मामले में SDM ने कोर्ट को सौपी जांच रिपोर्ट, जल्द होगा फैसला

इससे पहले की रिपोर्ट में कुछ और था मौत का कारण
इससे पहले की रिपोर्ट में ये कहा गया था कि तबरेज की मौत स्कल बोन टूटने के कारण हुई थी। उसके सिर की हड्डी टूट गई थी जिसके कारण उसका ब्रेन हैमरेज हो गया। पुलिस ने तबरेज की पत्नी की शिकयात पर ये केस दर्ज किया था।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.