Wednesday, Jun 29, 2022
-->
teacher eligibility test: printing press owner rai anoop prasad arrested in gangster

शिक्षक पात्रता परीक्षा: प्रिटिंग प्रेस का मालिक राय अनूप प्रसाद गैंगस्टर में गिरफ्तार

  • Updated on 11/30/2021

 

नई दिल्ली, टीम डिजीटल: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ष 2021 के पेपर लीक होने के मामले में उत्तर प्रदेश एसटीएफ (नोएडा यूनिट) ने दिल्ली स्थित एक प्रिंटिंग प्रेस के मालिक को गिरफ्तार किया है। इस मामले में थाना सूरजपुर में एसटीएफ के द्वारा एक हिंदी दैनिक समेत चार प्रिंटिंग प्रेस के मालिकों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत भी मुकदमा दर्ज करवाया गया है।
उत्तर प्रदेश विशेष कार्य दल (एसटीएफ) के नोएडा यूनिट के एसपी राजकुमार मिश्रा ने बताया कि 28 नवंबर वर्ष 2021 को उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित की गई थी। परीक्षा सुबह और शाम की दो पारियों में आयोजित की गई थी। इसमें 21 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। परीक्षा वाले दिन प्रश्न पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने परीक्षा रद्द कर दी। पेपर लिक करवाने में शामिल एक दर्जन से अधिक कई लोगों उत्तर प्रदेश के अलग अलग शहरों से गिरफ्तार किया गया था। 
 

प्रिटिंग प्रेस मालिक ने किया आर्डर फिर उड़ाई गोपनीयता की धज्जियां
गिरफ्तारी के बाद जांच में पता चला कि सचिव परीक्षा नियामक अधिकारी ने टीईटी परीक्षा के लिए पेपर प्रिटिंग की जिम्मेदारी ग्रेटर कैलाश दिल्ली निवासी राय अनूप प्रसाद की कंपनी आरएसएम फिनसर्व लि. ओखला इंडस्ट्रियल एरिया नई दिल्ली को दी गई थी। जांच मे पता चला कि इस कंपनी के पास सुरक्षित व गोपनीय तरीके से पेपर प्रिंट कराने की कोई व्यवस्था नहीं थी। इस कंपनी ने पेपर प्रिटिंग का आदेश मिलने के बाद निजी कर्मचारियों की नियुक्ति असुरक्षित ढंग से की और फिर हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू व संस्कृत भाषा में टाइपिंग के लिए स्कूली छात्राओं को अनियमित तरीके से बुला कर उनसे उसकी प्रूफ रीडिंग, टाइपिंग, डिजाइनिंग कराई गई। जिसकी न तो कोई विडियो ग्राफी कराई गई और न ही जांच के दौरान कोई सीसीटीवी फुटेज कंपनी के निदेशक दिखा सके।

एक हिंदी दैनिक समेत चारो प्रिटिंग प्रेस से नहीं किया था गोपनीयता का अनुबंध
 जांच में पता चला कि इस कंपनी ने अपने अलावा तीन अन्य प्रिटिंग प्रेस जिसमें पीएस प्रेस सर्विस प्रा.लि. ओखला इंडस्ट्रियल एरिया दिल्ली, मातेश्वर रोड कोलकाता की प्रिंट ओमिनिया , ओखला फेज वन की प्राण प्रिंटर्स व नोएडा के एक हिंदी दैनिक की प्रिटिंग प्रेस में बिना गोपनीयता व सुरक्षा का बांड भरवाए छपवाए गए। ऐसे में प्रतीत हुआ कि सचिव परीक्षा नियामक प्रयागराज उप्र के अधिकारी ने अक्षम संस्था को अवैध लाभ लेने हेतु पेपर प्रिटिंग के लिए चयनियत किया और सुरक्षा मानकों को अनदेखा किया। जिसके कारण प्रश्न पत्र की चेन ऑफ कस्टडी के साथ साथ कई और स्तर पर गोपनीयता भंग हुई और पेपर लीक हुआ। ऐसे में कंपनी निदेशक राय अनूप प्रसाद व अधिकारी परीक्षा नियामक उप्र आरोपियों की श्रेणी में है। जिनके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए एसटीएफ की टीम ने कंपनी निदेशक राय अनूप प्रसाद को गिरफ्तार कर सूरजपुर स्थित जिला अदालत में पेश किया गया और जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। 

 
 

comments

.
.
.
.
.