Sunday, Oct 02, 2022
-->
terrorists shot kashmiri pundit teacher in kulgam

J&K: कश्मीरी पंडित की फिर टारगेट किलिंग, टीचर से नाम पूछा और गोली मार दी

  • Updated on 5/31/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू- कश्मीर के कुलगाम जिले में मंगलवार को आतंकवादियों ने प्रवासी कश्मीरी पंडित शिक्षिका की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि कुलगाम जिले के गोपालपुर में रजनी बाला (36) पर आतंकवादियों ने गोली चलाई, जिससे वह घायल हो गईं। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। रजनी बाला गोपालपुर में बतौर पर शिक्षिका तैनात थीं। उन्होंने बताया कि इलाके की घेराबंदी कर हमलावरों की तलाश शुरू कर दी गई है।

नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने शिक्षिका की हत्या को ‘घिनौना’ कृत्य करार दिया। उन्होंने कहा, ‘रजनी जम्मू संभाग के सांबा जिले की निवासी थीं। दक्षिण कश्मरी के कुलगाम में शिक्षिका के तौर पर काम कर रही थीं, एक घिनौने हमले में उनकी जान चली गई। मेरी संवेदनाएं उनके पति राज कुमार और परिवार के साथ हैं। हिंसा के कारण एक और घर तबाह हो गया।’

अब्दुल्ला ने कहा, ‘निहत्थे नागरिकों पर निशाना बनाकर किए गए हालिया हमलों की लंबी सूची में यह एक और हमला है। निंदा एवं शोक के शब्द और सरकार का आश्वासन कि स्थिति सामान्य होने तक वे चैन से नहीं बैठेंगे...सभी खोखले प्रतीत होते हैं। रजनी की आत्मा को शांति मिले।’

गौरतलब है कि मई के महीने में दूसरी बार किसी कश्मीरी पंडित की हत्या की गई है। 12 मई को राहुल भट्ट की बडगाम जिले की चदूरा तहसील में तहसीलदार कार्यालय के अंदर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। राहुल से कश्मीर के बड़गाम  जिले के तहसील ऑफिस में घुसकर गोली मारकर हत्या करने पहले आतंकवादियों ने उसका नाम पूछा था। इस हमले की जिम्मेदारी कश्मीर टाइगर्स नामक आतंकी संगठन ने ली थी। मई महीने के दौरान कश्मीर में अभी तक सात लक्षित हत्याएं की गई हैं। इनमें से चार नागरिक और तीन पुलिसकर्मी थे, जो ड्यूटी पर तैनात नहीं थे। 

घायल राहुल भट को निकटवर्ती उप जिला अस्पताल चढूरा में ले जाया गया। उसकी हालत को देखते हुए उसे एस.एम.एच.एस अस्पताल लाया गया जहां बाद में उसकी मौत हो गई।

आतंकियों के निशाने पर अल्पसंख्यक/बाहरी नागरिक

आतंकवादियों ने एक बार फिर दर्शा दिया है कि अल्पसंख्यक कश्मीरी पंडित एवं बाहरी राज्यों के नागरिक उनके निशाने पर हैं। गत माह आतंकियों ने चाय पीने आए दो रेलवे प्रोटैक्शन फोर्स के जवानों की गोली मार कर हत्या कर दी थी।

इससे पहले आतंकियों ने एक स्कूल के अध्यापकों को स्कूल में घुस कर अपना निशाना बनाया था। पिछले दिनों सुरक्षाबलों ने जितने भी हाईब्रिड आतंकी पकड़े हैं, उन सभी को अल्पसंख्यकों एवं बाहरी राज्यों के नागरिकों को निशाना बनाने का जिम्मा सौंपा गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.