Monday, May 23, 2022
-->
Thankfully, this time less cases of Diwali fire, lowest calls in 15 years

शुक्र है,इस बार दीपावली आग के कम मामले,15 साल में सबसे कम कॉल

  • Updated on 11/5/2021

शुक्र है,इस बार दीपावली आग के कम मामले,15 साल में सबसे कम कॉल

महज 152 कॉल आई जबकि ये सं या हर साल 300 से ऊपर थी

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।
 शुक्र है, कि इस बार राजधानी में लोगों ने सावधानी बरततें हुए दिपावली मनाई,इसी का नतीजा है कि गत 15 सालों में दिल्ली फायर सर्विस को सबसे कम कॉल आई,और मृतकों की सं या भी न के बराबर रही। फायर विभाग के मुताबिक दीपावली पर आग लगने की 152 आपात कॉल आए, जो पिछले साल से 25 प्रतिशत कम और पिछले 15 साल में सबसे कम हैं।

दिल्ली दमकल सेवा के  निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि राजधानी दिल्ली में  दीपावली पर आग लगने की कोई बड़ी घटना नहीं हुई या इन घटनाओं में कोई हताहत नहीं हुआ। दमकल विभाग ने बताया कि दीपावली पर आग लगने की घटनाओं को लेकर आने वाले कॉल की सं या बढ जाती है। आग लगने के मु य कारण पटाखे जलाना, दिए जलाते समय पर्याप्त सावधानियां नहीं बरतना और छोटे-छोटे बल्ब से सजावट करते समय ढीले तारों की जांच नहीं करना और शॉर्ट सर्किट होता है। अतुल गर्ग ने बताया कि इस साल दीपावली पर आग लगने की घटनाओं संबंधी कॉल की सं या में कमी आना सकारात्मक संकेत है। यह पहली बार है, जब दीपावली पर केवल 152 आपात कॉल आए। यह इस त्योहार पर आए आपात कॉल की पिछले 15 साल में सबसे कम सं या है। उन्होंने बताया कि इसका एक कारण लोगों के बीच जागरूकता है। इस बार पटाखे जलाने से आग लगने संबंधी कॉल की सं या काफी कम रही और लोगों ने दीपावली मनाते समय सावधानी बरती।

कॉल में 10 जानवर और 12 पक्षियों को भी बचाया गया

दमकल विभाग के आंकड़ों के मुताबिक इस बार दीपावली पर 152 आपात कॉल किए गए, जिनमें से 117 कॉल आग लगने की घटनाओं से संबंधित थीं। इनके अलावा 10 कॉल जानवरों और 12 कॉल पक्षियों को बचाने के लिए सहायता मांगने के लिए थीं, एक फोन कॉल मकान ढहने के संबंध में था, सात अन्य कॉल बचाव संबंधी अभियानों के लिए और दो अन्य फोन कॉल में दो सडक़ हादसों के बाद सहायता मांगी गई। अतुल गर्ग ने बताया कि इस बार आए फोन कॉल की सं या पिछले साल की तुलना में 25 प्रतिशत कम रही। दमकल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बाह्य दिल्ली के मंगोलपुरी में बृहस्पतिवार की रात आग लगने की घटना की सूचना दी गई। यह आग रात 10 बजकर 14 मिनट पर मंगोलपुरी की एक फैक्ट्री में लगी और घटनास्थल पर दमकल की आठ गाडिय़ां भेजी गईं।  उन्होंने बताया कि भूमिगत तल में रखी टाइल, पहली मंजिल पर रखे कृत्रिम फूल और दूसरी मंजिल पर रखी जूता निर्माण सामग्री में आग लग गई। उन्होंने बताया कि इस दौरान कोई हताहत नहीं हुआ। आग बुझाने की प्रक्रिया अपराह्न तीन बजे पूरी हुई और आग लगने के कारण का पता लगाया जा रहा है।

नीलोठी एक्सटेंशन में गोदाम में आग

इससे पहले बृहस्पतिवार को अपराह्न करीब एक बजे नीलोठी एक्सटेंशन में एक गोदाम के भूमिगत तल में भीषण आग लग गई और दमकल की आठ गाडिय़ां मौके पर भेजी गईं। दमकल अधिकारियों ने बताया कि गोदाम के भूमिगत तल में रखे चीनी मिट्टी के सामान और डिस्पोजेबल (एक बार ही इस्तेमाल करने योग्य) बर्तनों में आग लग गई, लेकिन इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ। बृहस्पतिवार दोपहर साढे तीन बजे तक आग पर काबू पा लिया गया। सरकार द्वारा प्रतिबंध लगाए जाने के बावजूद शहर में कुछ लोगों ने पटाखे जलाए। अधिकारियों ने बताया कि दमकल विभाग के पास पिछले साल दीपावली में आग लगने की घटनाओं के संबंध 205 कॉल आए थे। दमकल अधिकारियों के अनुसार, पिछले दो दिन से लगभग तीन हजार दमकल कर्मी ड्यूटी पर थे और किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए दिल्ली दमकल सेवा के दलों को राष्ट्रीय राजधानी में 30 से अधिक विशिष्ट स्थानों पर तैनात किया गया था।    

 

comments

.
.
.
.
.