Thursday, Aug 11, 2022
-->

छेड़छाड़ का विरोध करने पर आरोपी ने छत से फेंका, सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा

  • Updated on 6/17/2017

Navodayatimesनई दिल्ली /ब्यूरो। नोएडा सेक्टर-34 मोरना में छेड़छाड़ के विरोध में युवक ने किशोरी को छत से नीचे फेंक दिया। परिजनों के 8.44 लाख रुपए खर्च करने के बाद भी किशोरी पिछले 27 दिन से कोमा से बाहर नहीं आई।

90 दिन में क्लीन नोएडा ग्रीन नोएडा बनाने का दावा

परिजनों को पहले लगा था कि उनकी बेटी फिसलकर छत से गिर गई होगी। बाद में सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद पता चला कि एक युवक द्वारा किशोरी को छत से धक्का देकर गिराया गया था। युवक ने किशोरी को नीचे आकर देखा और चला गया। इसके बाद परिजनों ने कोतवाली सेक्टर-24 पुलिस से मामले की शिकायत की।

मूलरूप से समस्तीपुर बिहार की रहने वाले राहुल (बदला हुआ नाम) परिवार के साथ सेक्टर-34 मोरना पिछले 20 साल से किराए पर रह रह रहा है। साथ में उनकी पत्नी पारुल, तीन बेटी और तीन बेटों के साथ रहते हैं। वह इलेक्ट्रॉनिक की दुकान चलाते हैं। राहुल ने बताया कि बीती 19 मई की रात वह परिवार के साथ दूसरी मंजिल की छत पर सोये हुए थे। 

उनकी बड़ी बेटी 17 वर्षीय खुशी (बदला हुआ नाम) रात 12:20 बजे बाथरूम करने के लिए दूसरी मंजिल पर स्थित अपने बाथरूम में गई थी। रात 1 बजे वह घर के सामने सीढिय़ों के पास घायल अवस्था में मिली। उन्हें लगा कि वह छत से गिर 
गई है। गंभीर हालत में खुशी को सेक्टर-51 के अस्पताल में ले गए। वहीं से उसे कैलाश अस्पताल ले जाने के लिए बोल दिया। 

एक किलो गांजा के साथ पुलिस ने किया दो आरोपियों को गिरफ्तार

कैलाश अस्तपताल से उन्हें सेक्टर-19 स्थित मैक्स भेज दिया। मैक्स अस्पताल में मशीनों का अभाव बताते हुए  उन्हें दिल्ली पटपडग़ंज स्थित मैक्स अस्पाल में भेज दिया। वहां पर उन्होंने 8 लाख 44 हजार से बेटी का इलाज कराया, लेकिन उनकी बेटी ठीक नहीं हुई। डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि उनकी बेटी कोमा में है। सिर, कमर और शरीर के अन्य हिस्सों में चोट आई है। 8 जून को परिजन खुशी को अस्पताल से घर वापस लेकर आए। 16 जून को दोबारा खुशी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.