Thursday, May 06, 2021
-->
the caa dispute enters in the metro, rajeev chauk witness for it

मैट्रो तक पहुंची नागरिकता संशोधन कानून की आंच, राजीव चौक पर हुई ये हरकत

  • Updated on 3/1/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उत्तर पूर्वी दिल्ली (north east delhi) दंगों के बाद अब नई दिल्ली (new delhi) में मेट्रो स्टेशन (metro station) पर कुछ युवकों ने ‘देश के गद्दारों को, गोली मारो. . .’ को नारे लगाए। पुलिस ने सभी 6 युवकों को मौके पर ही हिरासत में ले लिया लेकिन बाद में पूछताछ के बाद इन्हें छोड़ दिया गया। यह घटना राजीव चौक (rajeev chauk) मेट्रो स्टेशन की है। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है।

अपनी तबाही और बर्बादी का मंजर देख खून के आंसू बहा रही दिल्ली

6 हिरासत में लिए, बाद में छोड़ा गया
घटना करीब 12.30 की है जब 6 युवकों ने उस समय नारे लगाने शुरू कर दिए जब ट्रेन स्टेशन पर रुकने ही वाली थी। ट्रेन से उतरने के बाद भी इन लोगों ने सीएए के समर्थन में नारे लगाए। मेट्रो में सफर कर रहे कुछ यात्रियों ने जहां उनके साथ नारे लगाने शुरू कर दिए, वहीं कुछ यात्री घटना का वीडियो बनाने लगे। स्टेशन पर मौजूद बहुत से यात्री अचानक हुई इस घटना को देख रहे थे।

दिल्ली हिंसा को लेकर परेश रावल और विजेंदर सिंह के बीच छिड़ी जंग, यूजर्स ने लगाई क्लास

सारा फसाना मोबाइल में कैद, सोशल मीडिया पर वायरल
दिल्ली मेट्रो की सुरक्षा में तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसए) के जवानों ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को आनन-फानन में काबू में कर लिया। गौरतलब है कि ये सारा प्रकरण मोबाइल के कैमरों में कैद होने के बाद सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होता जा रहा है। कड़ी सुरक्षा वाले मैट्रो परिसर में सीएए की आंच दिखने के बाद एक बारगी पुलिस के भी हाथ-पांव फूल गए। मगर जब पता चला कि उक्त युवक सीएए का विरोध नहीं बल्कि समर्थन कर रहे हैं तो पुलिस ने उग्र युवकों को हिरासत में ले लिया। युवकों को रोका और उन्हें दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया। सीआईएसएफ ने एक बयान जारी कर कहा कि 29 फरवरी को सुबह 10:25 बजे राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर छह युवक नारे लगाते दिखाई दिए। उन्हें तुरंत सीआईएसएफ द्वारा रोका गया और आगे की कार्रवाई के लिए पुलिस अधिकारियों को सौंप दिया गया। मेट्रो रेल का परिचालन जारी रहा।

दर्द का समंदर, आधी-अधूरी लाशें बता रहीं दंगे का मंजर

क्या कहता है मेट्रो परिचालन एवं रखरखाव अधिनियम 2002 

बता दें कि दिल्ली मेट्रो परिचालन एवं रखरखाव अधिनियम 2002 के तहत दिल्ली मेट्रो परिसर के अंदर किसी भी प्रकार का प्रदर्शन या शोरशराबा प्रतिबंधित है। कानून के मुताबिक इस प्रकार की गतिविधि में संलिप्त किसी भी व्यक्ति को मेट्रो परिसर से बाहर निकाला जा सकता है।

दिल्ली दंगा प्रभावित लोगों को केजरीवाल सरकार से कितना मिलेगा मुआवजा, जानिए...

6 हिरासत में, पूछताछ जारी: पुलिस उवाच
हमने छह व्यक्तियों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। नारेबाजी की उक्त घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। -विक्रम पोरवाल पुलिस, उपायुक्त मेट्रो

दिल्ली दंगा पीड़ित ऐसे हासिल करें केजरीवाल सरकार की राहत योजना का लाभ

दिल्ली मैट्रो रेल पुलिस को सौंपा
सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर कुछ यात्री नारे लगाते दिख रहे हैं। इस वीडियो के संदर्भ में यह जानकारी दी जा रही है कि घटना आज सुबह मेट्रो स्टेशन पर हुई और डीएमआरसी तथा सीआईएसएफ कर्मियों ने आगे की कार्रवाई के लिए नारे लगाने वालों को तुरंत दिल्ली मेट्रो रेल पुलिस को सौंप दिया। -अनुज दयाल कार्यकारी निदेशक (डीएमआरसी) कॉरपोरेट कम्युनिकेशन विभाग

comments

.
.
.
.
.