Friday, Sep 30, 2022
-->
the-children-of-the-slum-area-will-study-in-the-police-station-and-move-forward

थाने में पढेंगे व आगे बढेंगे स्लम एरिया के बच्चे

  • Updated on 8/19/2022

थाने में पढेंगे व आगे बढेंगे स्लम एरिया के बच्चे
बच्चों के लिए आनंद विहार थाने में खुली पाठशाला
पुलिस उपायुक्त ने किया पाठशाला का उद्धघाटन


पूर्वी दिल्ली, 18 अगस्त (नवोदय टाइम्स): शाहदरा जिला के थाना आनंद विहार क्षेत्र स्थित झुग्गी बस्तियों में रहने वाले बच्चों को शिक्षित करने के प्रयास में कदम बढ़ाते हुए आनंद विहार थाना परिसर में बच्चों के लिये पाठशाला बनाई गई है। 
शाहदरा जिला पुलिस उपायुक्त डीसीपी आर साथिया सुंदरम ने इस पाठशाला भवन का  उद्घाटन किया।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि यह पाठशाला स्लम बस्ती के बच्चों को पठन-पाठन व उनके टैलेंटे को निखारने में मददगार साबित होगी यहां आर्थिक रूप से पिछड़े बच्चों को पढऩे लिखने का अच्छा माहौल व संसाधन मिलेंगे। इसके साथ ही बच्चों के मन में दोस्त पुलिस की छवी का निर्माण भी होगा जो अति महत्वपूर्ण है।

पाठशाला का संचालन सम्मान फाउंडेशन के द्वारा किया जा रहा है। इस अवसर पर शाहदरा जिला के अतरिक्त पुलिस उपयुक्त कुशल पाल सिंह, एसएचओ थाना आनंद विहार हरकेश गाबा एवं सम्मान फाउंडेशन के संस्थापक गौरव तिवारी व अन्य पदाधिकारी, पाठशाला में पढऩे वाले बच्चे और उनके परिजन मौजूद थे।

इस मौके पर पाठशाला में पढऩे वाले बच्चों को पुस्तकों व पाठ्य व लेखन सामग्री का वितरण किया गया। डीसीपी आर साथिया सुंदरम ने बताया कि आनंद विहार थाना के आसपास स्लम बस्ती में बहुत सारे टैलेंटेड बच्चे रहते हैं, यह बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर हैं, इन बच्चों को पढ़ाने के लिये संस्था के पास कोई उपयुक्त स्थान नहीं था, अभी तक थाना परिसर में ही खुले आसमान के नीचे बच्चों को पढ़ाया जा रहा था।

लेकिन अब इन बच्चों के लिए थाने परिसर में एक पाठशाला तैयार की गयी है। पाठशाला में बच्चों के लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। जहां वह आराम से पढ़ सकते हैं।  पाठशाला में क्लासरूम, लाइब्रेरी के साथ प्रयोगशाला भी बनायी गयी है, लाइब्रेरी में बच्चों के जरूरत की सभी किताबें भी मौजूद हैं,

उन्होंने कहा कि इस प्रकार के प्रयास जिले के अन्य थाना परिसरों में भी किये जाएंगे। आनंद विहार थाने के एसएचओ हरकेश गाबा ने बताया कि इस पाठशाला में तकरीबन 60 बच्चे पढ़ाई करने के लिए आते हैं, जिनको सुविधाएं देकर बेहतर शिक्षा देने की कोशिश की जा रही है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.