Sunday, May 22, 2022
-->
the-gang-who-cheated-on-the-pretext-of-getting-jobs-in-airlines-busted

एयरलाइंस में नौकरी लगवाने का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

  • Updated on 1/21/2022

नई दिल्ली,(टीम डिजिटल):दिल्ली से सटे नोएडा में साइबर क्राइम टीम ने इंडिगो एयरलाइंस में नौकरी लगवाने का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर दो ठगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस पूछताछ में सामने आया है  कि आरोपी बेरोजगार युवाओं के पास कॉल करके उन्हें इंडिगो एयरलाइंस में नौकरी लगवाने का झांसा देते थे। आरोपी खुद को इंडिगो का ही कर्मचारी बताते थे। युवकों को झांसे में लेने के बाद आरोपी उनसे रजिस्ट्रेशन चार्ज ,बांड चार्ज, सिक्योरिटी व फ़ाइल चार्ज सहित अन्य बहानों से लाखों रुपए ठग लेते थे। पैसे लेने के बाद आरोपी अपना मोबाइल नंबर बन्द कर देते थे। पुलिस ने आरोपियों से इंडिगो की फर्जी मुहर सहित अन्य सामान बरामद किया है। 

साइबर क्राइम टीम को शिकायत मिली थी कि कुछ आरोपी इंडिगो एयरलाइंस में नौकरी लगवाने का झांसा देकर युवाओं से लाखों रुपये ठग रहे हैं। इसके आधार पर  पुलिस ने दो आरोपियों को सेक्टर 6 से गिरफ्तार किया। यहां आरोपियों में अपना ऑफिस बना रखा था। इनकी पहचान राहुल निवासी साहिबाबाद और कमल निवासी ग्राम कूडी खरखौदा  मेरठ के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपियों से 11 मोबाइल, 2 लैपटॉप, 29 शीट कालिंग डाटा व एक इंडिगो एयरलाइन्स की फर्जी मुहर बरामद की है। इनके गिरोह के अन्य साथियों की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह क्विकर सहित अन्य वेबसाइट से चोरी किया गया युवाओं का डेटा खरीदते थे। इन वेबसाइट पर बेरोजगार नौकरी के लिए अपना रिज्यूम सहित अन्य जानकारी अपलोड करते हैं। आरोपी एक युवक की जानकारी देने के एवज में 5 से 10 रुपये देते थे। यह डेटा अलग अलग लोगों से खरीदा जाता था। बताया जा रहा है कि डेटा चोरी कर उसे ठगों को बेचने वाले आरोपी सम्बन्धित कंपनी में ही कार्यरत हैं। पुलिस उनके बारे में भी जानकारी जुटा रही है। ताकि उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जा सके।

सैंकड़ों लोगों से 1 करोड़ से ज्यादा रुपए ठगे
पुलिस जांच में खुलासा हुआ है कि गिरोह ने सैंकड़ों लोगों से 1 करोड़ से ज्यादा रुपये की ठगी की है। पीडि़तों में उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, मध्यप्रदेश, हरियाणा, बिहार सहित अन्य प्रदेशों के अलग अलग जिलों के लोग शामिल हैं। इनमें से कई पीडि़तों का डेटा पुलिस को मिला है।

आरोपियों के मोबाइल पर पीडि़तों ने सुनाई आपबीती
पुलिस ने आरोपियों से जो मोबाइल बरामद किए उन पर लगातार पीडि़तों की कॉल आ रही थी। पुलिस ने एक कॉल रिसीव की तो कॉलर ने अपना नाम वीपनचन्द निवासी ग्राम  बालू  हमीरपुर (हिमाचल प्रदेश)  बताया। पीडि़त ने बताया कि ठगों ने उनसे इंडिगो एयरलाइन में नौकरी दिलवाने के नाम पर 7 लाख रुपए ठग लिए। इसी तरह दूसरे मोबाइल पर विनय कुमार उपाध्याय निवासी जमुआ परसीपुर , सन्तरविदास नगर उत्तर प्रदेश ने कॉल की। उसने बताया कि ठगों ने उनसे नौकरी दिलाने के नाम पर 1.25 लाख रुपए ठग लिए।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.