Friday, Sep 30, 2022
-->
the jeweler was shot and the robbery took place

ज्वैलर को गोली मार दिया लूट को अंजाम

  • Updated on 8/2/2022

ढाई घंटे के अंदर पुलिस ने पांच में से दो को एनकाउंटर के बाद पकड़ा
- एक के पैर में लगी गोली, झज्जर से दिल्ली आए थे लूट को अंजाम देने
- अन्य तीन की तलाश में जुटी पुलिस, पकड़े गए दो के नाबालिग होने का संदेह

नई दिल्ली, 2 अगस्त (नवोदय टाइम्स):


द्वारका के नजफगढ़ इलाके के रिहायशी इलाके में स्थित एक ज्वेलरी शॉप में मंगलवार दोपहर हथियार बंद दो बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया। इस दौरान विरोध करने पर एक बदमाश ने शॉप के मालिक के भाई राजेश को गोली मार दी, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गए। वारदात के बाद दोनों करीब 25 हजार रुपये लेकर फरार हो गए। इधर सूचना मिलते ही मौके पर डीसीपी एम हर्षवर्धन के नेतृत्व में पहुंची पुलिस टीम ने टेक्निकल और मैनुअल सर्विलांस के माध्यम से जांच करते हुए मात्र ढाई घंटे के अंदर वारदात को अंजाम देने वाले दोनों मुख्य आरोपी को एक एनकाउंटर के बाद दबोच लिया। इस एनकाउंटर में एक के दायें पैर में गोली लगी है। पकड़े गए दोनों की उम्र 17 साल है और दोनों झज्जर के रहने वाले हैं। वहीं इनके 3 अन्य साथियों की पुलिस तलाश कर रही है।
डीसीपी एम हर्षवर्धन ने बताया कि नजफगढ़ थाना को मंगलवार दोपहर 12.07 बजे कॉल मिली थी। इसमें बताया गया था कि कुम्हार कॉलोनी में स्थित अवतार ज्वेलर्स में दो हथियारबंद लोग लूटपाट की नीयत से आए थे। इस दौरान दुकान में मौजूद दुकान के मालिक मुकेश के भाई राजेश ने जब विरोध किया तो एक ने उन्हें गोली मार दी, जोकि उनके दाएं जबड़े पर लगी। इसके बाद दोनों कैश काउंटर से करीब 25 हजार रुपये लेकर फरार हो गए।
मामले की गंभीरता को देखते हुए एडिशनल डीसीपी विक्रम सिंह के नेतृत्व में पुलिस की कई टीमें बनाई गई और जांच शुरू की गई। सबसे पहले इलके को सील कल दिया गया, ताकि अपराधी इलाके से फरार न हो सकें। जांच टीम ने आस-पास लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की, जिसमें दो लडक़े हाथ में पिस्टल लिए दुकान में घुसते दिखे। तत्काल टेक्निकल व मैनुअल सर्विलांस से जानकारी जुटानी शुरू की गई। मात्र ढाई घंटे की जांच के बाद जिला स्पेशल स्टाफ को दोनों के बारे में सूचना मिली। सूचना पर कार्रवाई करते हुए एसीपी रामअवतार के नेतृत्व में इंस्पेक्टर नवीन कुमार, कमलेश, एसएचओ नजफगढ अजय कुमार की टीम मौके पर पहुंच दोनों बाइक सवार दोनों आरोपी को घेर लिया। अपने को घिरा देख एक ने पुलिस टीम पर गोली चला दी। जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस टीम ने दो राउंड गोली चलाई, जिसमें से एक गोली एक आरोपी के पैर में लगी। जिससे वे बाइक से गिर गए। इसके बाद टीम ने दोनों को दबोच लिया। उनके कब्जे से वारदात में उपयोग दोनों देसी पिस्टल पुलिस ने बरामद कर ली है।

झज्जर से आए से अपने तीन साथियों के साथ
डीसीपी ने बताया कि दोनों आरोपी अपने तीन अन्य साथियों के साथ झज्जर से दिल्ली आए थे। उनसे जो बाइक बरामद हुई है वह उन्होंने 31 जुलाई को बहादुरगढ़ से चुराई थी। यहां पहुंचने के बाद आरोपियों ने पहले इलाके की रेकी की थी। ऐसे स्थान का चयन किया था, जहां भीड़ कम हो ताकि फरार होने में आसानी हो। इसलिए इस दुकान का चयन किया था, जोकि बाजार में नहीं था। वारदात के पहले सुबह 10 बजे इन लोगों ने रेकी भी की थी। पूछताछ में पता चला है कि ये लोग हरियाणा में कई वारदातों को अंजाम दे चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.