Wednesday, Sep 18, 2019
the negligence of sewer cleaning again took five lives all employees were from bihar

फिर से सीवर सफाई की लापरवाही ने लील ली 5 जान, सभी कर्मचारी थे बिहार के सीवान जिले से

  • Updated on 8/22/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  मौत भी कहर बरपाता है तो बड़े खामोशी से किसी घर के लाल को निगल लेता है और पता भी नहीं चलता है। ऐसा ही वाकया एक एनसीआर में आज दोपहर घटित हुई है जो रोंगटें खड़े कर देते है। सीवर सफाई के लिये उतरे 5 सफाई कर्मियों को उस समय मौत हो गई जब वो गाजियाबाद (gajiabad) के पास नंद ग्राम के पास 13 फुट गहरी सीवर लाईन में उतरे थे। जहां दम घुटने से इन कर्मचारियों की मौत हो गई है। यह सभी कर्मचारी बिहार (bihar) के सीवान (siwan) जिले के रहने वाले थे। 

हरियाणा में प्रेमी जोड़े को पंचायत ने दी खौफनाक सजा, पढ़कर कांप जाएगी आपकी रुह

सीवर में गेस जमा होने से हुई मौत 
लेकिन दुर्भाग्य ने मौत के बाद भी इनका पीछा नहीं छोड़ा है। इन कर्मचारियों के पता नहीं होने से उनके घर वाले तक यह मातम भरी खबर पहुंच नहीं सकी है। हालांकि पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।  इस घटना में भी फिर से ठेकेदार की लापरवाही उजागर हुई है तो मौत की कीमत भी फिर से किसी गरीब मां के बेटे को चुकाना पड़ा है। आखिर जो सीवर बंद था उसमें गेस जमा होने की संभावना की अनदेखी क्यों हुई। 

गृह मंत्रालय ने पर्यटकों के लिए खोली 137 चोटियां, कश्मीर में पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

व्यवस्था की लापरवाही से गई जान
जल निगम की सीवर लाईन को लेकर अक्सर इस तरह की मौत की खबर बन जाना किसी मजदूर के लिये नई बात नहीं है। लेकिन समय रहते अगर व्यवस्था कारगर होती तो शायद इस तरह की घटना को रोककर किसी मासूम को विधवा बनने से रोका जा सकता है। फिलहाल व्यवस्था की बदहाली की भेंट चढ़ गया इन कर्मचारियों का जीवन, जिसके शव अब लावारिश की तरह पड़ा हुआ है, जिसे लेने वाला भी कोई नहीं है।    
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.