Monday, Jan 21, 2019

पुलिस ने धरा 2 हजार लोगों से ठगी करने वाला शातिर, प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर लगाया चूना

  • Updated on 1/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर आर्थिक रूप से कमजोर लोगों से करोड़ों की ठगी की वारदात को अंजाम देने वाले शातिर ठग को गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान 57 वर्षीय राजेंद्र कुमार त्रिपाठी के रूप में हुई है। 

मूलरूप से गोरखपुर निवासी शातिर ठग वारदात को अंजाम देने के बाद फरीदाबाद में छिपकर रह रहा था। आरोपित गरीबों को सस्ते दर पर मकान देने का झांसा देकर उनसे रुपये ले लेता था। उसने लोगों को अपने जाल में फंसाने के लिए मंत्रालय के नाम का ईमेल बना रखा था।

वहीं, उसमें प्रधानमंत्री का फोटो लगा कर प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर लोगों को सस्ते दामों पर घर देने का विवरण दिया था। जिससे लोग आसानी से उसके चंगुल में फंस जाते थे। पूछताछ में पुलिस को पता चला कि इसने 2000 से अधिक गरीब लोगों को प्रधानमंत्री आवासीय योजना के तहत मकान देने का भरोसा दिया था और तीन करोड़ रुपए से अधिक की ठगी 
की थी। 
अपराध शाखा के अतिरिक्त आयुक्त डॉ. अजीत कुमार सिंगला ने बताया कि साल 2017 में भारत सरकार की ओर से शिकायत दर्ज करवाई गई थी कि डब्लूडब्लूडब्लूडाटएनएचडीओइंडियाडाटओआरजी के नाम से एक साइट प्रधानमंत्री का गलत तरीके से अपने साइट पर इस्तेमाल कर रहा है।

साइट लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सस्ते आवास मुहैया कराने के नाम पर ठग रहा है। मामले की गंभीरता को लेते हुए पुलिस ने यह मामला दर्ज कर लिया।

आगे की छानबीन में पुलिस को पता चला कि यह साइट फ रीदाबाद निवासी कोई राजेंद्र कुमार त्रिपाठी चलाता है। सूचना के आधार पर  पुलिस उसकी तलाश में जुट गई। सूचना के आधार पर पुलिस ने आरोपी राजेंद्र को गिरफ्तार कर लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.