फर्जी डॉक्टर बन क्लीनिक चला रही थी महिला, केस दर्ज

  • Updated on 12/7/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। रिक्शे की टक्कर से मामूली रूप से जख्मी हुई युवती पड़ोस में ही एक महिला डॉक्टर के पास पहुंची। आरोप है कि उसने युवती के जख्म पर टांके लगा दिए जिससे इंफेक्शन हो गया। जिसके बाद युवती को पहले डॉ. हेडगेवार अस्पताल और बाद में राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जहां ऑपरेशन करके युवती के पैर का एक हिस्सा काट दिया गया, लेकिन दो दिन बाद ही 23 अप्रैल को 24 वर्षीय कृष्णा भारती की मौत हो गई। वह कृष्णा नगर के घोंडली इलाके की रहने वाली थी व प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही थी

स्पेशल सेल के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, हत्थे चढ़े तीन कुख्यात लुटेरे

युवती के परिजनों ने कथित महिला डॉक्टर के पास आधिकारिक डिग्री नहीं होने का आरोप लगाया है। उसके पिता ने संबंधित विभागों में शिकायत की। दिल्ली मेडिकल काउंसिल की रिपोर्ट पर दिल्ली पुलिस ने आरोपी महिला के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। घटना पूर्वी जिले के मधु विहार इलाके की है।

जांच में फर्जी निकला रजिस्ट्रेशन नंबर व डिग्री
जांच में सबसे हैरान करने वाली बात यह सामने आई है कि आरोपी महिला का एमबीबीएस होने का दावा झूठा और रजिस्ट्रेशन नंबर फर्जी है। भारती 12 अप्रैल की दोपहर हसनपुर डिपो के पास अपनी सहेली के घर जा रही थीं। रास्ते में एक रिक्शे की टक्कर लगने से उनके पांव में जख्म हो गया था।

खुदकुशी मामले में SHO का तबादला, जांच के बाद दोनों पुलिसकर्मियों का किया गया ट्रांसफर

कथित महिला डॉक्टर ने उसके टांके लगाए, इंजेक्शन दिया और दवाएं देकर घर भेज दिया। भारती के पिता का कहना है कि घर पर आने के बाद भारती के पांव के साथ पूरे शरीर में तेज दर्द होने लगा। वह उसे दूसरे डॉक्टर के पास ले गए, जहां पता चला कि घाव पर गलत तरीके से टांके लगाए गए हैं, जिससे इंफेक्शन फैल गया है।

16 अप्रैल को वे भारती को डॉ. हेडगेवार अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने उसकी पट्टी करने के बाद घर भेज दिया। रात में भारती की तबियत और भी बिगड़ गई। पूरे शरीर में तेज दर्द के साथ उल्टियां होने लगीं।  

सुनंदा पुष्कर कांड : स्वामी की अर्जी का थरुर और पुलिस ने किया विरोध

पूर्वी जिला के पुलिस उपायुक्त, पंकज सिंह ने कहा कि आरोपी महिला के खिलाफ मधु विहार थाने ने फर्जीवाड़े और धोखाधड़ी की धाराओं में आईपीसी 419/420 के तहत और दिल्ली मेडिकल काउंसिल एक्ट की धारा-27 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल महिला की गिरफ्तारी नहीं हुई है, जांच जारी है। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.