Wednesday, Nov 13, 2019
tis-hazari-court-delhi-police-lawyers-violence-viral-video

हाथ जोड़कर खड़ी DCP मोनिका भारद्वाज पर हमला करते दिखे वकील, VIDEO वायरल

  • Updated on 11/8/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) की तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari Court) में वकीलों (Lawyers) और पुलिस (Police) के बीच हुई हिंसक झड़प का एक नया वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में डीसीपी नॉर्थ मोनिका भारद्वाज (Monika Bhardwaj) हाथ जोड़े नजर आ रही हैं। एक तरफ जलती हुई गाड़ियां दिख रही हैं तो वहीं मोनिका भारद्वाज वकीलों को शांत करने के लिए हाथ जोड़े खड़ी हैं। तभी वकीलों का एक झुंड तेजी से आगे बढ़ता हुआ दिखता है और पुलिसकर्मियों और डीसीपी मोनिका को घकेलते हुए आगे बढ़ जाता है। 

इसके बावजूद हिम्मत दिखाते हुए उन्होंने अंत समय तक भीड़ को समझाने की कोशिश की। जब माहौल बिगडऩे लगा तो मौजूद कुछ पुलिस कर्मियों ने वहां पहुंचकर भीड़ के बीच के बड़ी मशक्कत उन्हें सुरक्षित बाहर निकाला। डीसीपी मोनिका भारद्वाज का कहना है कि इस विवाद के दौरान उनके साथ मार पीट भी की गई। उन्होंनें ये भी दावा किया है कि इस दौरान उनकी सर्विस रिवाल्वर छीन ली गई थी तब से उनकी रिवॉल्वर लापता है। 

तीस हजारी: अब गांधीगीरी पर उतरे वकील, हड़ताल जारी और बांट रहें फूल

गाड़ियों को किया आग के हवाले
2 नवम्बर को तीस हजारी कोर्ट परिसर में जब यह घटना हुई तो उसका वीडियो भी वायरल हो गया। करीब डेढ़ मिनट के इस वीडियो में यह पूरी घटना दिख रही है। वायरल हो रहे वीडियो में 2 नवम्बर को हंगामा के बाद वकीलों द्वारा पुलिस के गाडिय़ों में लगाई गई आग की लपटें उठती दिख रही हैं। वहीं दूर उस स्थान पर पहले सैकड़ों वकील हंगामा करते दिख रहे हैं। तभी करीब आठ से दस पुलिसकर्मी उस भीड़ की ओर दौड़ते दिख रहे हैं। 

धरना देने वाले पुलिसवालों के खिलाफ HC में वकीलों ने दायर की याचिका, लगाया ये आरोप

पुलिसकर्मियों की पिटाई करते दिखे वकील
कुछ ही सेकेंड बाद वे पुलिस कर्मी किसी प्रकार भीड़ के बीच से उत्तरी जिला डीसीपी मोनिका भारद्वाज, जोकि हंगामा कर रहे वकीलों को समझाने गई थीं, को अपने घेरे में लेकर आते दिख रहे हैं। सादे लिबास में दो पुलिस कर्मी उन्हें अपने जैकेट से ढके हुए हैं। वहीं उन के पीछे करीब आधा दर्जन वकील, जिनमें से कुछ ने रुमाल से मुंह ढक रखा है, लगातार उन पर हमला कर रहे हैं। पीछे दिख रहा है कि भीड़ में शामिल वकील उन पुलिस कर्मियों की पिटाई करते दिख रहे हैं, जो डीसीपी को बचाने पहुंचे थे। इस दौरान दोनों पुलिसकर्मी डीसीपी को वहां से सुरक्षित निकाल ले जाते हैं। 

वकीलों की हड़ताल का बड़ा असर- तीन दिन में एक लाख से ज्यादा मामले हुए पेंडिंग

21 पुलिसकर्मी हुए थे घायल
इस मामले में पुलिस प्रवक्ता अनिल मित्तल का कहना है कि एफआईआर में डीसीपी मोनिका भारद्वाज का बयान भी जोड़ा जाएगा। बता दें कि 2 नवंबर को पुलिस और वकीलों के बीच पार्किंग को लेकर विवाद हुआ और देखते ही देखते ये हिंसक झड़प में बदल गया। इसमें 21 पुलिसकर्मी घायल हुए साथ ही कुछ वकीलों को भी चोटें आई। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.