Wednesday, Dec 11, 2019
triple talaq bill haryana mewat nuh fir register

कानून का असरः फोन पर दिया तलाक, केस दर्ज होते ही निकली हेकड़ी, कहा- बीवी को रखने को तैयार

  • Updated on 8/3/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश के सबसे पिछड़े जिले मेवात (Mewat) में तीन तलाक (Triple Talaq) का पहला मामला सामने आया है। यहां एक पति ने फोन पर अपनी पत्नी को तलाक दे दिया। मामले की निंदा हरियाणा (Haryana) सहित देश के अन्य राज्यों में हो रही है। जबकि पति का दावा है कि वह पत्नी को रखने के लिए तैयार हूं और मैंने किसी भी प्रकार से तलाक नहीं दिया है। जो एफआईआर (FIR) में लिखा है वह मनगढ़ंत है।

दिल्ली: मेट्रो की पटरी पर उतरी मां ,10 साल के बच्चे ने कुछ ऐसे बचाई जान

कानून बनने के बाद पहला मामला

गुरुवार को इस मामले में जिला के नगीना पुलिस थाने में एक शिकायत दी गई थी। और देर रात मुस्लिम महिला संरक्षण कानून की धारा 4, धमकी देने की धारा 506 के तहत केस दर्ज हुआ। मेवात (Mewat) में तीन तलाक को लेकर पहला केस नगीना थाने में दर्ज किया गया। हालांकि अभी तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

मुंबई :मस्जिद बांदर इलाके में लगी आग,मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियां

महिला की शिकायत पर दर्ज किया मुकदमा

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक खेडली नूंह (Nuh) निवासी साजिदा की शादी करीब दो साल पहले पिनगवां के ढाढोली निवासी सलाउद्दीन के साथ हुई थी। शादी के बाद से ही उसका पति उसे दहेज के लिए परेशान करने लगा। जिससे तंग आकर उसने अपने पति व उसके परिवार वालों के खिलाफ  दहेज मांगने व मारपीट करने का केस दर्ज करा दिया। इसी बात से चिढ़कर आरोपित ने लड़की की मां को फोन कर कहा कि उसने साजिदा को तीन बार तलाक बोलते हुए तलाक दे दिया है। अब वे अपनी लड़की को उसके पास न भेजें। शिकायत पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ  मुस्लिम वुमन प्रोटेक्शन ऑफ राईट्स ऑन मैरिज एक्ट 2019 की धारा 4 तथा आईपीसी की धारा 506 के तहत केस दर्ज कर लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.