Thursday, Jun 30, 2022
-->
trouble-for-kerala-government-in-gold-smuggling-case-k-t-jaleel-swapana-prsgnt

सोना तस्करी कांडः स्वप्ना की कॉल डिटेल से हुआ बड़ा खुलासा, केरल के कई मंत्रियों के नाम आए सामने

  • Updated on 7/15/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सोना तस्करी कांड को लेकर अब केरल के कई सरकारी अधिकारियों और मंत्रियों की नींद उड़ गई है। इस कांड में हुए नए खुलासों से हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि इस सोना तस्करी कांड के तार आतंकवाद से जुड़ रहे हैं।

कॉल डिटेल से खुलासा
इस मामले में मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश से पूछताछ के दौरान कई मंत्रियों और नौकरशाहों के नाम सामने आए हैं।  इसके लिए स्वप्ना के मोबाइल नंबर के कॉल डिटेल रिकॉर्ड्स निकाले गये जिससे ये पता चला है कि सोना तस्करी की मुख्य आरोपी राज्य के उच्च शिक्षा और अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री के।टी। जलील के साथ बराबर संपर्क में बनी हुई थी।

जांच के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने ये आरोप लगाया है कि स्वप्ना और उसके साथी संदीप नायर अब तक विदेश से 150 किलोग्राम से ज्यादा सोने की तस्करी कर चुके हैं और उनका ज्यादातर इस्तेमाल आतंकवाद संबंधित गतिविधियों में किया गया है।

केरल: सोना तस्करी मामले में होगी NIA जांच, गृह मंत्रालय ने दिया आदेश

स्वप्ना के हाईप्रोफाइल कांटेक्ट
इतना ही नहीं, जांच के दौरान स्वप्ना के जुड़े कई हाईप्रोफाइल कांटेक्ट भी सामने आए हैं। बताया जा रहा है कि बीते कुछ महीनों के दौरान जलील से स्वप्ना की 16 बार फोन पर बात हुई थी। इतना ही नहीं, मंत्री और नौकरशाह स्वप्ना के आवास पर आते जाते  रहते थे। जिसमें मुख्यमंत्री के तत्कालीन सचिव एम। शिवशंकर भी शामिल थे। इनसे कस्टम विभाग के अधिकारियों ने मंगलवार को तिरुवनंतपुरम में पूछताछ की है।

NIA ने केरल में सोना तस्कर के मामले को आतंकवाद से जोड़ा, FIR दर्ज कर शुरू की जांच

गोपिनीय अभियानों में फ्लैट हुआ इस्तेमाल
ये बात भी सामने आई है कि सचिवालय के पास स्थित एक फ्लैट स्वप्ना के गोपनीय अभियानों का केंद्र रहा है। इसी फ्लैट में सोने की खेप छिपाई जाती थी और यहां तस्करों के साथ कई बड़े लोग भी आते-जाते थे। इस फ्लैट को यहां कानून प्रवर्तन एजेंसियों के संदेह से बचने के लिए खास तौर पर इस्तेमाल किया गया।

इस फ्लैट पर वरिष्ठ आईएएस अधिकारी शिवशंकर भी आते जाते थे और उन्हें स्वप्ना के घर पर भी आते-जाते देखा गया था। इस बात को और अधिक पुख्ता करने के लिए आवासीय सोसायटी के सीसीटीवी फूटेज मांगे गए हैं।

15 करोड़ के सोने घोटाले के तार केरल के CM पी विजयन के कार्यालय तक पहुंचे

जलील को नहीं पता था स्वप्ना का इतिहास
वहीँ, दूसरी तरफ जलील ने कहा कि उन्हें स्वप्ना के इतिहास के बारे में नहीं पता था। उन्होंने बताया कि उनकी स्वप्ना से बात केवल रमजान फूड राहत किट से संबंधित मामले में हुई थी।

जलील ने बताया कि उन्होंने यूएई के महावाणिज्यदूत से फोन कर बात की तो उन्होंने राहत किट वितरण के लिए स्वप्ना से बात करने के लिए कहा, उस वक़्त स्वप्ना यूएई कंसुलेट में एक अधिकारी थी। उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं पता कि स्वप्ना को केरल सरकार में सरकारी नौकरी कैसे मिली।

30 किलो सोना, सीएम पर सवाल, अफसरों पर गाज, जानिए क्या है केरल का सोना तस्करी कांड

ऐसे शुरू हुई सोने के तस्करी
उधर, एनआईए का कहना है कि स्वप्ना और उसका साथी सारिथ  ने अचानक ही यूएई कंसुलेट इस्तीफा दे दिया था। लेकिन इससे पहले उन्हें कंसुलेट में काम करते हुए हवाईअड्डे पर राजनयिक बैगेज के आने-जाने के बारे में पता चल चुका था और इसी के चलते बाद में दोनों ने संदीप के साथ मिलकर ये सोना तस्करी जैसी साजिश रची।

इसके बाद दोनों ने अपने वीआईपी संपर्को की मदद से बड़ी मात्रा में सोने की तस्करी करना शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि जुलाई 2019 से लेकर अब तक इस गिरोह ने 150 किलोग्राम से अधिक सोने की तस्करी की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.