Saturday, Apr 21, 2018

नए नोटों की नकली करेंसी पकड़ी गई,दो गिरफ्तार

  • Updated on 1/11/2017

Navodayatimes

नई दिल्ली, (ब्यूरो): नए नकली नोटों की छपाई और उन्हें मार्केट में चलाने वाले लोगों पर बड़ी कार्रवाई करते हुए दक्षिणी-पश्चिमी जिला पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से 6 लाख 10, 500 रुपए के नकली नोट और नोटों को छापने का समान भी बरामद किया है।

इंजेक्शन इस्तेमाल के लिए अनीश ने लिया सोशल मीडिया का सहारा

गिरफ्तार आरोपियों की पहचान 23 वर्षीय मोहन गार्डन निवासी आशीष उर्फ केजू व 25 वर्षीय नजफगढ निवासी कृष्ण भारद्वाज उर्फ नेताजी के रूप में हुई है। आशीष मोबाइल रिपेयरिंग टैक्नीशियन है जबकि कृष्ण कम्प्यूटर में मास्टर है। फिलहाल पुजिल दोनों से पूछताछ कर उनके साथ जुड़े अन्य लोगों का जानकारी एकत्र कर रही है।

मामले में जानकारी देते हुए जिला पुलिस उपायुक्त सुरेन्द्र कुमार ने बताया कि एएटीएस इंस्पेक्टर राजकुमार को फर्जी नोट तैयार करने वाले गैंग के बारे में गुप्त सूचना मिली थी। यह लोग कंप्यूटर व स्कैनर की मदद से न सिर्फ नकली नोटों की छपाई कर रहे थे बल्कि उन्हें मार्केट में सर्कुलेट करने का काम भी खुद करते थे।

अपनी सूचना को पुख्ता करने के बाद पुलिस टीम ने 9 जनवरी को आरोपियों से डील करने के लिए एक हेड कांस्टेबल को ग्राहक बनाकर भेजा गया था। दोनों ने चार हजार के नकली नोट (पांच सौ रुपये के) हेड कांस्टेबल को सौंपे जिसके एवज में उससे दो हजार रुपये लिए थे। इसी दौरान बाकि की टीम ने छापा मार कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपियों के खिलाफ बिंदापुर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

आशीष ने खुलासा किया कि वह ओपन से बारहवीं तक पढ़ा है। मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स करने के बाद उसने शिव शक्ति मोबाइल कम्यूनिकेशन के नाम से दुकान खोली जो तीन माह बाद ही बंद हो गई। दूसरा आरोपी भी बारहवीं तक ही पढ़ाई की कर पाया था। उसने कम्प्यूटर में डीटीपी का कोर्स कर रखा है।

पूर्व पार्षद के बेटे ने 14 साल की लड़की से छेड़खानी की, गिरफ्तार

साथ ही फोटोशॉप, कोरल ड्रॉ, पेजमेकर आदि का अच्छा ज्ञान है। इसने प्रिटिंग प्रेस खोली किंतु वह बाद में बंद हो गई। वह कॉल सेंटर, मोबाइल कंपनी, ऑटो मोबाइल कंपनी में नौकरी कर चुका है लेकिन वहां मिलने वाली पगार से वह संतुष्ट नहीं रहा। इसके बाद उसने नारनौल हरियाणा में अगरबत्ती सप्लाई का भी धंधा किया। जल्द अमीर बनने की चाहत में दोनों ने नकली नोट तैयार करने का काम शुरू किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.