Tuesday, Oct 04, 2022
-->
uncontrolled dtc cluster bus crushed two brothers riding scooty

अनियंत्रित डीटीसी क्लस्टर बस ने स्कूटी सवार दो भाईयों को कुचला

  • Updated on 8/3/2022

रफ्तार का कहर - अनियंत्रित डीटीसी क्लस्टर बस ने स्कूटी सवार दो भाईयों को कुचला
- एक की मौत,दूसरे की स्थिति गंभीर
- हादसे के बाद क्लस्टर चालक मौके से हुआ फरार
नई दिल्ली/टीम डिजिटल।


राजधानी दिल्ली में रफ्तार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसा ही एक हादसा बुधवार सुबह द्वारका मोड़ के पास हुआ, जहां एक तेज रफ्तार क्लस्टर बस चालक ने स्कूटी सवार दो भाईयों को कुचल दिया। इस हादसे में एक भाई बस के आगे के पहिये के नीचे आ गए, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दूसरा भाई गंभीर रूप से घायल हो गया है। मृतक की पहचान नजफगढ़ के बापरौला गांव निवासी 33 वर्षीय पंकज सिंह के तौर पर हुई है, जबकि घायल की पहचान अभिनय के तौर पर हुई है। हादसे के समय दोनों बस के बराबर में ही जा रहे थे। हादसे के बाद बस का चालक बस को मौके पर छोड़ फरार हो गया।
द्वारका जिला डीसीपी एम हर्षवर्धन ने बताया कि पुलिस को सुबह 10.26 में एनएसआईटी संस्थान के गेट के सामने क्लस्टर बस द्वारा स्कूटी सवार दो लोगों को कुचलने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंची द्वारका नॉर्थ थाना पुलिस की टीम को पंकज सिंह का शव मिला। पता चला कि घायल अभिनय को इलाज के लिए पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि काफी भीड़ भार वाले सडक़ पर नेहरु प्लेस टर्मिन की रुट नंबर-764 बस काफी तेज रफ्तार में जा रही थी। हादसे के दौरान बस चालक ने आगे जा रही एक गाड़ी को ओवरटेक करने की कोशिश की थी। इसी दौरान बस के साथ स्कूटी से जा रहे दोनों भाई उसकी चपेट में आ गए। इस दौरान अनियंत्रित हो स्कूटी से दोनों गिर गए और स्कूटी चला रहे पंकज बस के सामने आ गए। रफ्तार तेज होने के कारण बस का चालक जब तक ब्रेक लगाता सडक़ पर गिरे पंकज आगे के पहिया के नीचे आ गए। वहीं अभिनय सडक़ पर दूर जा गिरे। जिससे उन्हें गंभीर चोटें आई, जिन्हें तत्काल पास के अस्पताल में ले जाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है।

2020 में हुई थी शादी, मात्र पांच माह की है बेटी
पंकज व अभिनय परिवार के साथ नजफगढ बापरोला गांव में रहते हैं। परिवार में माता पिता के साथ इनके एक बड़े भाई राहुल सिंह, उनकी पत्नी, पंकज की पत्नी और मात्र पांच माह की एक  बेटी है। पंकज की 2020 में शादी हुई थी। अभी अभिनय की शादी नहीं हुई थी और घर में उसकी शादी की तैयारी चल रही थी। पंकज के पिता ने बताया कि दोनों भाई लक्ष्मी नगर स्थित टूर एंड ट्रैवल कंपनी के ऑफिस में काम करते थे। हादसे के समय भी दोनों भाई ऑफिस जा रहे थे। दोनों रोज नियमित रूप से स्कूटी से द्वारका मोड़ मेट्रो पहुंचते थे और वहां स्कूटी को पार्किंग में खड़ी करके मेट्रो से लक्ष्मी नगर जाया करते थे।

गंतव्य से मात्र कुछ मीटर की दूरी पर हुआ हादसा
जिस जगह दोनों भाई हादसे के शिकार हुए वह उनके गंतव्य मेट्रो पार्किंग मात्र कुछ मीटर की दूरी पर है। पिता ने बताया कि भीड़ भरे यातायात और दिल्ली में होने वाले सडक़ हादसों के कारण ही दोनों भाई स्कूटी को पार्किंग में खड़ी कर मेट्रो से ऑफिस जाया करते थे।

हादसे के बाद लगा लंबा जाम, खुलवाने पहुंचे खुद डीसीपी
सि हादसे के बाद नजफगढ रोड पर लंबा जाम लग गया। दिल्ली के व्यस्ततम सडक़ होने के कारण थोड़े ही समय में यह जाम करीब एक किलोमीटर तक पहुंच गया। इसकी सूचना जैसे ही ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों को लगी, तो खुद ट्रैफिक के डीसीपी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने खुद से पुलिस कर्मियों के साथ ट्रैफिक को चालू करवाना शुरू किया। इस दौरान वे सड़क किनारे ठेला लगाए हुए लोगों को फटकार भी लगाई और उन्हें तत्काल वहां से हटवाया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.