Wednesday, Dec 08, 2021
-->
uphaar-fire-proof-tampering-case-hearing-postponed-due-to-non-verification-of-property

उपहार अग्निकांड सबूत छेड़छाड़ मामला: संपत्ति सत्यापन नहीं होने से टली सुनवाई

  • Updated on 10/22/2021

उपहार अग्निकांड सबूत छेड़छाड़ मामला: संपत्ति सत्यापन नहीं होने से टली सुनवाई
नई दिल्ली, टीम डिजिटल। पटियाला हाउस स्थित मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट डॉ पंकज शर्मा की अदालत ने उपहार सिनेमाहॉल अग्निकांड में सबूतों को नष्ट करवाने के दोषी करार दिये गए गोपाल और सुशील अंसल समेत पांच दोषियों की संपत्ति का अभी तक सत्यापन नहीं हो पाया है। इसके चलते शुक्रवार को भी अंसल बंधु समेत पांचों दोषियों की सजा पर बहस को आगे नहीं बढ़ाया जा सका। अदालत ने अब इस मामले में पुलिस को 25 अक्तूबर तक हर हाल में संपत्ति सत्यापन रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिये है। 
पुलिस संपत्ति रिपोर्ट पेश करने में रही असफल
मामले के जांच अधिकारी उपनिरीक्षक धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि दोषियों की तरफ से अपनी चल.अचली संपत्ति को लेकर जो हलफनामा दाखिल किया गया है, उसके सत्यापन के लिए उन्होंने आयकर विभाग से संपर्क कर रिपोर्ट मांगी है। लेकिन, अभी तक आयकर विभाग द्वारा दोषियों की संपत्ति को लेकर रिपोर्ट नहीं दी गई है। इससे आज भी पुलिस रिपोर्ट पेश करने में असफल रही है।

रिपोर्ट न होने से पहले भी टल चुकी है सुनवाई
अदालत ने पुलिस का पक्ष सुनने के बाद कहा कि जांच अधिकारी आयकर विभाग के संबंधित वार्ड के डिप्टी कमिश्नर से संपर्क करें और उन्हें अवगत कराएं कि दिल्ली हाईकोर्ट के आदेशानुसार एक निर्धारित अवधि में इस मामले में फैसला सुनाया जाना है, जो आयकर विभाग के लचर रवैये की वजह से दो बार पहले ही टल चुका है। 
पांच आरेपियों में एक अदालत कर्मी भी शामिल
इस बार आयकर विभाग मांगी गई जानकारी उपलब्ध कराए। इसके साथ ही अदालत ने मामले की सुनवाई को 25 अक्तूबर तक के लिए स्थगित कर दिया है। पेश मामले में अदालत ने गोपाल और सुशील अंसल समेत पांच को मुख्य फाइल से छेड़छाड़/सबूत मिटाने का दोषी करार दिया है। इनकी सजा पर फैसला होना बाकी है। दोषियों में एक अदालतकर्मी दिनेश कुमार शर्मा भी शामिल है।
दर्दनाक अग्निकांड में 59 लोगों ने गंवाई थी जान
ज्ञातव्य है कि 13 जून 1997 में उपहार सिनेमाहॉल में उस समय आग लग गई थी, जब वहां बॉर्डर फिल्म का प्रसारण चल रहा था। इस अग्निकांड में 59 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि सौ से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे। इस मामले में अंसल बंधुओं समेत अन्य को पहले ही सजा सुनाई जा चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.