Monday, Mar 01, 2021
-->
used to cheat in the name of getting a job got busted pragnt

दिल्ली: पुलिस के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, फर्जी कॉल सेंटर चलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़

  • Updated on 1/23/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले एक कॉल सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए शाहदरा जिले की साइबर सेल टीम ने 30 महिला समेत 34 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से आठ बैंक खाते, 48 मोबाइल फोन और 85 सिम कार्ड मिले हैं। आरोपी बैंक व कॉल सेंटर में नौकरी दिलाने के नाम पर अपने एक वेबसाइट पर 10 रुपए का रजिस्ट्रेशन कराने का झांसा देते थे, फि र उसके बैंक खाते की जानकारी लेकर दो से पांच हजार रुपए उड़ा लेते थे। 

गणतंत्र दिवस की परेड में पहली बार लद्दाख लेकर आ रहा अपनी झांकी, जानें इस बार क्या कुछ होगा खास

नौकरी दिलाने के नाम पर करते थे ठगी
आरोपी लोगों के ठगी के रुपए अपने निजी बैंक खातों में ट्रांसफर नहीं करते थे, बल्कि उससे ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी का कूपन खरीदते थे। उसे कूपन के जरिए खरीदारी कर सामान किसी और को सप्लाई करते थे, ताकि पुलिस को उन तक पहुंचना आसान नहीं था। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है। शाहदरा जिला अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त संजय कुमार सेन ने बताया कि जिले के साइबर सेल टीम को जीटी रोड के एक मकान में फ र्जी कॉल सेंटर चलाने की सूचना मिली। 

वार्ता फिर बेनतीजा, किसान यूनियनों ने दी आंदोलन तेज करने की चेतावनी

फर्जी कॉल सेंटर चलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़
इसके बाद साइबर सेल के इंस्पेक्टर हीरा लाल, एसआई रोहताश, राहुल, हेड कांस्टेबल, दीपक और कांस्टेबल राजवीर, संदीप व  दीक्षिका की टीम का गठन किया गया। टीम जीटी रोड पर फर्जी कॉल सेंटर के पास पहुंची और छापेमारी कर 34 लोगों को धर दबोचा। जिसमें तीन लोग बाहर ही मौजूद थे। 

गणतंत्र दिवस : दिल्ली पुलिस की मदद के लिए 50 स्वयंसेवकों को किया गया शामिल

30 महिला समेत 34 गिरफ्तार
पुलिस ने 30 महिला समेत 34 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी सोशल मीडिया साइट पर नौकरी का विज्ञापन देते थे। जिसमें बैंक व कॉल सेंटर में अच्छी सैलरी का ऑफ र रहता था। उस विज्ञापन में मोबाइल नंबर के साथ एक वेबसाइट रहती थी। जिस पर मात्र 10 रुपए रजिस्ट्रेशन का झांसा देते थे। क्रेडिट व डेबिट कार्ड से ही भुगतान करने की बात कहते थे। फि र भुगतान करते समय क्रेडिट व डेबिट कार्ड की जानकारी लेकर उनके बैंक खाते से दो से पांच हजार रुपए उड़ा लेते थे। विरोध करने पर नौकरी नहीं दिलाने की धमकी देते थे।  

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.